नीतीश सरकार बांट रही साबुन और मास्क, कोविड को लेकर सख्ती के निर्देश

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Apr 2021, 11:35 PM IST
  • कोरोना संक्रमण में हुई तेज बढ़ोत्तरी को देखकर 12 अप्रैल को आपदा प्रबंधन की बैठक में हुई. जिसमें पिछले दिनों जारी गाइडलाइन के तहत राज्यभर में प्रतिबंधों का सख्ती से पालन कराने की जिम्मेदारी सभी डीएम, एसएसपी एवं एसपी को दी गई. साथ ही ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में मास्क व साबुन बांटने को भी कहा गया.
राज्य में कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से होगा पालन, ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में साबुन व मास्क का वितरण

पटना. कोरोना संक्रमण की रफ्तार में हुई बढ़त को देखकर पिछले दिनों जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार प्रतिबंधों का सख्ती के साथ पूरे राज्य में पालन कराया जाएगा. इस संबंध में मंगलवार को गृह विभाग के विशेष सचिव विकास वैभव की ओर से निर्देश जारी किया गया है. जिसके तहत राज्यभर में प्रतिबंधों का सख्ती से पालन कराने के लिए सभी डीएम, एसएसपी एवं एसपी को जिम्मेदारी सौंपी गई है. इसके अलावा ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में मास्क और साबुन का वितरण करने को भी कहा गया है.

कोरोना की रोकथाम के लिए 9 अप्रैल को गृह विभाग ने दिशा-निर्देश जारी किए थे. जिसके तहत राज्य में कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए है. लेकिन कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से हो रही वृद्धि एवं संक्रमण के फैलाव को देखकर 12 अप्रैल को आपदा प्रबंधन समूह की बैठक हुई थी. जिसमें 9 अप्रैल को राज्य में लगाए गए प्रतिबंधों की समीक्षा की गई. जिसमें गृह विभाग की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराने का निर्णय लिया गया.

बिहार में कोरोना बेकाबू, विधानसभा सचिवालय के 11 लोगों की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव

गृह विभाग ने ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में साबुन एवं मास्क का वितरण कराने को भी कहा है. इस संबंध में गृह विभाग की ओर से डीएम एवं एसपी को पत्र जारी करके आदेश दिया गया है. साबुन एवं मास्क का वितरण कराने की जिम्मेदारी ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायती राज संस्थाओं को सौंपी गई है. वहीं शहरी क्षेत्रों में यह कार्य नगर निकायों के माध्यम से किया जाएगा. गृह विभाग ने आदेश का पालन सुनिश्चित कराने के लिए अधिकारियों से जरूरी कार्रवाई करने को कहा है. साथ ही इससे विभाग को अवगत कराने को भी कहा है.

PMCH कोविड वार्ड में लापरवाही का आलम,ड्यूटी रोस्टर से गायब हुई डॉक्टरों की लिस्ट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें