बिहार में मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी : रेल, जल और सड़क मार्ग जोड़ने को मास्टर प्लान बनाएगी राज्य सरकार

Uttam Kumar, Last updated: Sat, 8th Jan 2022, 10:01 AM IST
  • बिहार में जल्द ही मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी बनने जा रहा है. पीएम गति शक्ति योजना के तहत बिहार के रेल जल और सड़क मार्ग के साझा जंक्शन वाले स्थान को चयनित कर विकसित किया जाएगा. इसके लिए बिहार सरकार मास्टर प्लान तैयार करेगी.
बिहार में रेल जल और सड़क मार्ग के साझा जंक्शन वाले स्थानों को विकसित कर मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी तैयार किया जाएगा. (प्रतीकात्मक फोटो)

पटना. बिहार के विकास में सबसे बड़ी बाधा माने जाने वाली यातायात की समस्या अब जल्द ही दूर होगी. दरअसल बिहार में सड़क, रेल और जलमार्ग को जोड़ा जाएगा ताकि यातायात को सुगम बनाया जा सके. इस तरह की मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी का निर्माण प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के तहत होगा. राज्य के रेलमार्ग, जलमार्ग और सड़क मार्ग को जोड़ने के लिए राज्य सरकार खुद मास्टर प्लान तैयार करेगी. 

दरअसल प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के तहत अब मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी हब का निर्माण किया जा रहा है.  इस योजना के तहत रेल जल और सड़क मार्ग के साझा जंक्शन के स्थल चयनित कर विकसित किए जाएंगे. इस पूरे योजना का नेशनल मास्टर प्लान अहमदाबाद के भास्करचार्य नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस एप्लीकेशन एंड जियो इन्फोर्मेटिक्स के द्वारा तैयार किया जा रहा है. 

बिहार: परीक्षा पास करने वाले 567 स्टूडेंट्स को नहीं मिलेगी स्कॉलरशिप, जानें कारण

वहीं बिहार में पीएम गति शक्ति स्टेट मास्टर प्लान नेशनल मास्टर प्लान का हिस्सा होगा. इस योजना की मास्टर प्लान की आगे की दिशा तय करने के लिए शुक्रवार को पटना के महेंद्रू घाट स्थित रेलवे ऑफिस में रीजनल कॉन्फ्रेंस किया गया था. जिसमें छह राज्यों बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और छत्तीसगढ़ के प्रतिनिधियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हिस्सा लिया. बिहार की तरफ से दोनों उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और रेनू देवी तथा पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने अपने विचार रखें.  

पराली की समस्या से निजात : बिहार के 11 जिले के कृषि विज्ञान केंद्रों में लगी बायोचार कंपोस्ट प्लांट

वहीं बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन कोरोना संक्रमित हो जाने के कारण इस कॉन्फ्रेंस में शामिल नहीं हो पाएं. उद्योग विभाग के अपर मुख्य सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा और तकनीकी विकास निदेशक पंकज दीक्षित ने इस योजन में बिहार से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की.  केंद्र सरकार के अधिकारियों ने गति शक्ति के नेशनल पोर्टल पर इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं को लगातार साझा करते रहने की जरूरत बताई. केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव और रेल राज्य मंत्री दर्शना जरदोश किसी कारणवश इस कॉन्फ्रेंस में उपस्थित नहीं हो सकें. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें