सोरेन के “झारखंड का नहीं होने देंगे बिहारीकरण” बयान को CM नीतीश ने बताया राजनीति से प्रेरित

Naveen Kumar Mishra, Last updated: Tue, 21st Sep 2021, 10:46 AM IST
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मगही और भोजपुरी भाषा को लेकर एक बयान दिया था. इस बयान को लेकर काफी विवाद हुआ था. इस बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को पहली बार अपनी प्रतिक्रिया दी है. अपने बयान में नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार और झारखंड के लोगों के बीच आपस में प्रेम और सम्मान है.
पत्रकारोॆ से बात करते सीएम नीतीश कुमार(प्रतीकात्मक फोटो)

पटना । कुछ दिन पहले ही झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मगही और भोजपुरी भाषा को लेकर एक बयान दिया था. इस बयान को लेकर काफी विवाद हुआ था. इस विवादित बयान पर पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रतिक्रिया आई है. इस मामले पर सोमवार को नीतीश कुमार ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए हेमंत सोरेन के बयान को राजनीति से प्रेरित बताया है.

महंत नरेंद्र गिरि की मौत के बाद आनंद गिरि को पुलिस ने किया गिरफ्तार, गुरु ने शिष्य के नाम लिखा था सुसाइड नोट

 

ये है पूरा मामला

दरअसल झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने अपने एक बयान में झारखंड में अधिक मगही और भोजपुरी भाषा के इस्तेमाल पर एक विवादित बयान दिया था. हेमंत सोरेन ने अपने बयान में कहा था कि मगही और भोजपुरी के कारण झारखंड का बिहारीकरण हो रहा है. उन्होंने कहा था कि मगही और भोजपुरी झारखंड की भाषा नहीं है यह बिहार की भाषा है. अपने बयान में उन्होंने कहा था कि वह झारखंड का बिहारीकरण नहीं होने देंगे. इस बयान पर काफी विवाद हुआ था. इस बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को पहली बार अपनी प्रतिक्रिया दी है. अपने बयान में नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार और झारखंड के लोगों के बीच आपस में प्रेम और सम्मान है. हेमंत सोरेन के बयान पर नीतीश कुमार ने कहा कि यह बयान राजनीतिक फायदा के लिए दिया गया है.

बिहार : अब ड्राइविंग लाइसेंस बनाना नहीं होगा आसान, लागू होगी नई व्यवस्था, ये होंगे नियम

 

बिहार झारखंड के लोगों में है प्रेम

पटना में सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पत्रकारों से बात कर रहे थे. पत्रकारों से बात करते हुई उन्होंने कहा कि बिहार झारखंड के लोगों के बीच प्रेम और सम्मान है. उन्होंने कहा कि झारखंड भी पहले बिहार ही था. नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार के लोगों को झारखंड के प्रति पूरा सम्मान है और झारखंड के लोगों को बिहार के प्रति पूरा सम्मान है. बिहार झारखंड एक ही परिवार है. उन्होंने कहा कि लोग राजनीति से प्रेरित होकर फालतू का बयान देते हैं. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि जिस समय झारखंड अलग हुआ था तब यहां के लोगों में मायूसी थी.

दिल्ली में आंतकियों की गिरफ्तारी के बाद बिहार प्रशासन सतर्क, इन जिलों में जारी अलर्ट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें