पटना के 17 में से 16 आइसोलेशन सेंटर हुए बंद, कोरोना संक्रमण दर में आई कमी

Smart News Team, Last updated: Wed, 4th Aug 2021, 10:30 PM IST
  • पटना जिले में कोराना संक्रमितों और संदिग्ध मरीज कम होने की वजह से 17 में से 16 आइसोलेशन सेंटर बंद हो गए है. सिर्फ 100 बेड वाला एक सेंटर होटल पाटलिपुत्र अशोका में चल रहा है. सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह ने बताया कि कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों को छोड़ किसी भी आइसोलेशन सेंटर में मरीज नहीं है.
पटना के 17 में से 16 आइसोलेशन सेंटर हुए बंद, कोरोना संक्रमण दर में आई कमी

पटना. पटना जिले में कोराना संक्रमितों और संदिग्ध मरीजों की संख्या कम होने के कारण 17 में से 16 आइसोलेशन सेंटर बंद हो गए है. सिर्फ एक सेंटर होटल पाटलिपुत्र अशोका में चल रहा है. उसमें अभी एक भी मरीज या संदिग्ध भर्ती नहीं है. 

स्वास्थय विभाग के रखे बेड, ऑक्सीजन और अन्य उपकरण बिना उपयोग के हैं. सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह ने बताया कि अभी कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों को छोड़ किसी भी अन्य आइसोलेशन सेंटर में एक भी मरीज नहीं है. 

डॉ. विभा कुमारी सिंह ने आगे बताया कि पटना जिले में अस्पतालों और सेंटरों को मिलाकर लगभग 2700 कोरोना संक्रमितों के ठहरने की व्यवस्था आइसोलेशन सेंटर में हुई थी.अब सभी खाली हैं. कुछ बंद हुए प्रमुख आइसोलेशन सेंटर में बामेती, पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स, एसडीएच बाढ़, मसौढ़ी, बिक्रम, पाली, बाढ़, टूरिस्ट इंफॉर्मेशन सेंटर पटना सिटी, ईएसआई बिहटा आदि शामिल है. सिर्फ 100 बेड का होटल पाटलिपुत्र अशोका चल रहा हेै, लेकिन वहां एक भी मरीज नहीं है. डॉ. विभा ने कहा कि पटना में कोविड-19 संक्रमितों की संख्या कम होने से आइसोलेशन सेंटर बंद हो गए हैं. आपात स्थिति के लिए होटल पाटलिपुत्र को अभी भी चलाया जा रहा है. 

बता दें कि पटना में कोरोना संक्रमण दर काफी कम हो गयी है. हजार कोरोना टेस्टिंग में एक से दो मामले संक्रमित मिल रहे हैं. जिले में गुरुवार को 73 नए कोरोना संक्रमित मिले. जिससे कि कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 51,794 हो गई. इनमें से अब तक 50,288 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. एक्टिव कोरोना के 1101 मरीज है.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें