लोक गायिका शारदा सिन्हा की आवाज का जादू लोगों को कोरोना प्रोटोकॉल पालन के लिए करेगा प्रेरित

Prachi Tandon, Last updated: Fri, 29th Oct 2021, 8:10 AM IST
  • पद्मभूषण अवार्ड से सम्मानित मशहूर लोक गायिका शारदा सिन्हा की आवाज छठ घाटों पर लोगों को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए प्रेरित करेंगी.
छठ पूजा पर लोगों को कोरोना प्रोटोकॉल पालन करने के लिए प्रेरित मशहूर लोक गायिका शारदा सिन्हा की आवाज करेगी.

पटना. प्रसिद्ध लोक गायिका शारदा सिन्हा के गाने लोगों को छठ पर्व पर कोरोना प्रोटोकॉल मानने के लिए प्रेरित करेंगे. केंद्र सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया है कि पद्म भूषण सम्मानित लोक गायिका की आवाज का इस्तेमाल लोगों को जागरुक करने के लिए किया जाएगा. कोविड के प्रति सावधानी बरतते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि आने वाली छठी मैय्या की पूजा में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सार्वजनिक भागीदारी की मांग उठी है. शारदा सिन्हा के छठी के गीतों से लोगों को कोरोना से बचने के उपाय बताए जाएंगे और लोगों को समय-समय पर ध्यान दिलाते रहेंगे.

यूपी, बिहार और झारखंड में बड़े स्तर पर लोग छठ की पूजा करते हैं. छठ के पर्व को लेकर मशहूर लोक गायिका ने कई गानें भी गाए हैं. त्योहारों की शुरुआत हो चुकी है ऐसे में बाजारों से लेकर बस स्टैंड पर भीड़ जमा है और कुछ आवाज आ रही है तो समझ जाइएगा शारदा सिन्हा की आवाज से लोगों को कोरोना प्रोटोकॉल समझाया जा रहा है. छठ पूजा चार दिनों तक के लिए चलती है. ऐसे में कोरोना नियम टूट सकते हैं. इसके लिए सरकार पहले से तैयारियों में जुटी है. छठ महापर्व की शुरुआथ नहाय-खाय से शुरू होती है. इस साल भी महापर्व की शुरुआत 11 नवंबर से होगी.  

ITI पटना में हीरो मोटर्स का शानदार कैंपस प्लेसमेंट, आधे स्टूडेंट नौकरी के लिए सेलेक्ट

शारदा सिन्हा लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करने के लिए वर्चुअली एक गाना रिलीज करेगा. शारदा सिन्हा अपनी आवाज वर्चुअसी एक ऑडियो रिलीज करेंगी. जिसे सरकार जगह-जगह पर लोगों को कोविड के प्रति जागरूक करने का इस्तेमाल करेंगी. बता दें कि छठ से पहले ही शारदा सिन्हा के गीत गली-गील में सुनाई देने लगते हैं. शारदा सिन्हा को बिहार सरकार की तरफ से बिहार-कोकिला, केंद्र सरकार की तरफ से पद्म श्री, और पद्म भूषण अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें