पाकिस्तानी ISI महिला एजेंट ने हनीट्रैप में फंसाकर भारतीय सेना जवान से जानकारी करवाई लीक

Indrajeet kumar, Last updated: Mon, 15th Nov 2021, 8:59 AM IST
  • इंडियन आर्मी से जुड़ी खुफिया जानकारी लीक करने के आरोप में पटना के खगौल से सेना के एक जवान को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार होने के बाद उसने मेडिकल कोर से जुड़ी कुछ अहम जानकारियां लीक काराने की बात उसने स्वीकार ली है. गिरफ्तार सेना का जवान पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के एक महिला एजेंट के संपर्क में था.
हनीट्रैप के चक्कर में फंसा भारतीय सेना का जवान

पटना. भारतीय सेना के एक जवान को सेना से जुड़ी खुफिया जानकारी लीक करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पुणे में तैनात जवान गणेश प्रसाद को NIA से मिले इनपुट के आधार पर बिहार एटीएस, खगौल पुलिस और मिलीट्री इंटेलिजेंस के मदद से गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तार जवान ने सेना के मेडिकल कोर से जुड़ी कुछ अहम जानकारियां लीक करने की बात उसने स्वीकार ली है. फिलहाल खगौल थाना में पूछताछ जारी है. मिली जानकारी के मुताबिक जवान गणेश प्रसाद अस्थावां, नालंदा का रहने वाला है. गणेश कुछ दिनों पहले पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की महिला एजेंट के संपर्क में था. जोधपुर में ड्यूटी के दौरान उसने अस्पताल से जुड़े कई यूनिट के बारे में जानकारी महिला एजेंट से साझा करने की बात स्वीकार ली है.  

जवान गणेश प्रसाद फिलहाल पुणे में पदस्थापित है. करीब 2 साल पहले वह आईएसआई की महिला एजेंट के संपर्क में आया था. मिलों जानकारी के मुताबिक केन्द्रीय खुफिया एजेंसी ने चार दिन पहले बिहार एटीएस को इसके बारे में इनपुट मुहैया कर दिया था. जिसके बाद बड़े ही गोपनीय तरीके से एक टीम को उसकी गिरफ़्तारी के लिए टास्क सौंपा गया. जिसके बाद उसे रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया. सेना के अधिकारियों को गणेश की गिरफ़्तारी से जुड़ी जानकारी दे दी गई है. उसके खिलाफ ऑफिसियल सीक्रेट्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है.

पटना: ब्यॉज हॉस्टल में पुलिस की रेड, भारी मात्रा में सरकारी दवाइयां जब्त

गिरफ़्तारी के बाद जवान गणेश प्रसाद का मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया है. मोबाईल की फोरेंसिक जांच भी की जाएगी. जांच एजेंसियां ये पता लगाने की कोशिश करने की कोशिश कर रही है कि मोबाईल फोन के जरिए क्या क्या मैसेज आईएसआई की महिला एजेंट को दिए गए हैं. फिलहाल गिरफ्तार जवान से एटीएस, आर्मी इंटेलिजेंस, पुलिस और खुफिया एजेंसियों के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें