पटना: भैंस चुराकर भाग रहे युवक को पीट-पीट कर हत्या

Smart News Team, Last updated: Thu, 17th Dec 2020, 9:20 AM IST
  • मृतक आलमगीर वैशाली जिले के देसरी सारा धनेस का रहनेवाला था. पूर्व में दानापुर थाने से मवेशी चोरी के मामले में जेल जा चुका था आलमगीर. मृतक की मां ने सात नामजद आरोपितों के खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर.
पटना: भैंस चुराकर भाग रहे युवक को पीट-पीट कर हत्या

पटना: फुलवारीशरीफ थाना क्षेत्र के एफसीआई रोड के पास श्रीकांत राय के खटाल से भैंस चुराकर भाग रहे युवक को भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला जबकि एक आरोपित का साथी भाग निकला. यह घटना मंगलवार की रात करीब तीन बजे की है. मृतक आलमगीर 32 वर्ष मूलरूप से वैशाली जिले के देसरी थाना क्षेत्र स्थित सारा धनेस का रहनेवाला था. इस मामले में पहचान के आधार पर मृतक की मां नूरजहां खातून की ओर से खटाल संचालक श्रीकांत राय, साधु राय, अशरफी राय, संचित राय, बादल राय, कन्हाई राय और रौशन राय के खिलाफ फुलवारीशरीफ थाने में हत्या समेत अन्य सुसंगत धाराओं में केस दर्ज कराया गया है. पिटाई के वक्त भीड़ में शामिल अन्य आरोपितों की पहचान के लिए पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाल रही है.

खुटें से भैंस खोलते हुए पकड़ा गया

एफसीआई रोड में श्रीकांत राय का खटाल है. उनके खटाल में करीब एक दर्जन भैंसे हैं. मंगलवार की रात करीब तीन बजे उनके खटाल में दो युवक घुसे और खूंटे में बंधी एक भैंस को खोलकर लेकर भागने की कोशिश कर रहे थे. खटपट की आवाज सुनकर खटाल संचालक श्रीकांत राय की नजर भैंस खोल रहे आरोपितों पर पड़ी तो उन्होंने शोर मचाते हुये आरोपितों की घेरेबंदी शुरू कर दी.

बिहार में कैबिनेट विस्तार पर CM नीतीश कुमार ने बीजेपी को लेकर दिया बड़ा बयान

शोर सुनकर जुटी भीड़

खटाल मालिक ने जब शोर मचाया तब वहीं, हल्ला सुनकर आसपास के लोग लाठी-डंडे लेकर इकट्ठा हो गये. सभी ने घेरेबंदी कर भाग रहे आरोपित आलमगीर को पकड़ लिया जबकि उसका दूसरा साथी भागने में सफल रहा. आरोप है कि मौके पर जुटी भीड़ ने लाठी-डंडे से आलमगीर को पीट-पीट कर अधमरा कर दिया. सूचना पर पहुंची फुलवारीशरीफ थाने की पुलिस उसे पीएमसीएच ले गई, जहां उसकी मौत हो गई. शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी: मुजफ्फरपुर की पहली जीत, वैशाली को 9 विकेट से हराया

दोपहर में मिली मौत की सूचना

मृतक आलमगीर की मां नूरजहां खातून ने बताया कि वो अपने दोस्त के घर जाने की बात कहकर घर से निकला. रात में वह घर वापस नहीं आया. बुधवार की दोपहर में पुलिस से सूचना मिली कि उनके बेटे की पीएमसीएच में मौत हो गई है. बताया गया कि मवेशी चोरी के आरोप में की गई पिटाई से उसकी जान गई है.

BPSC प्रोजेक्ट मैनेजर एग्जाम की तारीखों में बदलाव, जानें नई डेट्स

दानापुर में मवेशी चोरी में भी जा चुका था जेल

प्रारंभिक जांच में उसके खिलाफ मवेशी चोरी का केस दानापुर थाने में दर्ज पाया गया है. जेल से छूटने के बाद वह फिर से मवेशी चुराने लगा. उसके बारे में अन्य जानकारी भी हासिल की जा रही है. वहीं, नामजद आरोपितों की तलाश करते हुए घटना में शामिल अन्य लोगों के पहचान करने में पुलिस जुटी है.

नीतीश सरकार की कैबिनेट बैठक में सात निश्चय पार्ट-2 योजना को मिली मंजूरी

मां का रो-रोकर बुरा हाल

बेटे के मारे जाने से मां नूरजहां खातून का रो-रोकर बुरा हाल है. बेटे के शव से लिपटकर वह दहाड़े मारकर रो रही थी. उसका कहना था कि मेरे बेटे की हत्या में शामिल आरोपितों को पुलिस जल्द गिरफ्तार करे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें