कोरोना से गृह विभाग अवर सचिव उमेश रजक की मौत, एम्स के फर्श पर VIDEO वायरल हुआ था

Smart News Team, Last updated: 14/07/2020 09:17 PM IST
  • कोरोना वायरस की चपेट में आकर गृह विभाग के अपर सचिव उमेश रजक की दुखद मौत हो गई। परिवार का आरोप है कि वे इलाज के लिए अस्पताल के फर्श पर पड़े रहे लेकिन समय पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। जब इलाज शुरू हुआ तो देर हो चुकी थी।
प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. कोरोना वायरस की चपेट में आकर बिहार सरकार के गृह विभाग के अवर सचिव उमेश रजक की दुखद मौत हो गई है। होम डिपार्टमेंट के अंडर सेक्रेटरी उमेश रजक का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वो पटना में एम्स के फर्श पर लेटे कराह रहे थे। वीडियो के वायरल होने के बाद उनका इलाज शुरू किया गया लेकिन वे कोविड-19 से जिंदगी की जंग हार गए।

कोरोना: पूरे बिहार में 16 से 31 जुलाई तक फिर लॉकडाउन, इमरजेंसी सेवा छोड़ सब बंद

रजक के परिवार ने सोशल मीडिया पर अवर सचिव की मौत के लिए इलाज में देरी को कारण बताया है। परिवार का कहना है कि वीडियो वायरल होने के बाद इलाज शुरू तो किया गया लेकिन तब तक देर हो चुकी थी. एक दिन पहले ही राजद नेता तेजस्वी यादव ने एक वीडियो शेयर कर सरकार को घेरा था।

पटना में 162 नए कोरोना मरीज, बिहार में 1432, राज्य के अपर मुख्य सचिव पॉजिटिव

तेजस्वी यादव ने ट्वीट में कहा था ' पटना एम्स के फुटपाथ पर लेटा व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव है। सरकार, प्रशासन और अस्पताल कोई नहीं सुन रहा है। बिहार में कोरोना के हालात बहुत भयावह है। आने वाले दिनों में स्थिति बेक़ाबू होने वाली है. सरकार जांच नहीं कर रही, कर रही है तो आंकड़े छुपा रही है. बिहार को अब भगवान बचाए।'

वहीं मृतक अधिकारी के परिजनों का आरोप है कि कोरोना पीड़ित होने के बावजूद न सरकार और न अस्पताल प्रशासन ने कोई ध्यान नहीं दिया। पहले उनका आईजीआईएमएस ने इलाज करने से इंकार कर दिया तो एम्स में भर्ती के लिए पहुंचे लेकिन यहां भी उन्हें समय से एडमिट नहीं किया गया। उनका इलाज तक नहीं शुरू किया गया और उन्हें फुटपाथ पर पड़े रहने दिया गया। इसी वजह से उनकी मौत हो गई।

अन्य खबरें