बिहार सरकार को पटना एम्स के डॉक्टरों की सलाह, राज्य में लगाया जाए पूर्ण लॉकडाउन

Smart News Team, Last updated: Sun, 25th Apr 2021, 1:56 PM IST
  • बिहार सरकार को पटना एम्स के डॉक्टरों ने 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन लगाने की सलाह दी हैं. साथ ही कोरोना संक्रमण के चरम पर आने से पहले सभी तैयारियां पूरी करने के लिए भी कहा है.
बिहार सरकार को पटना एम्स के डॉक्टरों की सलाह, राज्य में लगाया जाए पूर्ण लॉकडाउन

पटना. जबसे कोरोना की दूसरी लहर शुरू हुई है तबसे सभी प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे है. वही हाल बिहार की राजधानी पटना के भी है. जहां पर इन दिनों रोज 2 हजार से तीन हजार के बीच कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे है. जिसको लेकर पटना एम्स के डॉक्टरों ने चिंता जताई है. साथ ही उन्होंने इसे रोकने के लिए उपाय भी बताया है. वही उनका कहना है कि राज्य में कोरोना पर काबू पाने के लिए दो से तीन सप्ताह तक का पूर्ण लॉकडाउन लगाना चाहिए. 

अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान पटना के डीन सह एनेस्थीसिया विभागाध्यक्ष डॉ उमेश भदानी का कहना है कि राज्य में लगातार कोरोना के कारण स्थिति बिगड़ती जा रही है, जबकि यह अभी अपने चरम पर भी नहीं है. वही इसके चरम पर आने की आशंका 5 से 15 मई के बीच लगाई जा रही है. वही इसको रोकने के लिए अभी से तैयारी करने की जरूरत है. वही अगर सम्भव हो तो पूरे राज्य में पूर्ण लॉकडाउन लगा देना चाहिए. 

पटना के राजू कुमार दास बने Oxygen Man, परेशान लोगों को फ्री में दे रहे ऑक्सीजन

इसी तरह एम्स मेडिकल विभागाध्यक्ष डॉ रवि कीर्ति का कहना है कि कोरोना का पिक पर पहुंचने से स्थूति और भी खराब होने वाली है. साथ ही उन्होंने कहा कि अभी स्वास्थ्य संसाधन मजबूत नहीं है, ऐसे में सरकार को तीन सप्ताह का पूर्ण लॉकडाउन लगा देना चाहिए. 

बढ़ते कोरोना केसों के बीच CM नीतीश ने फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए कही ये बड़ी ​बात

इसी तरह सिविल सर्जन डॉ विभा रानी का कहना है कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए अभी से आगामी स्थिति का अनुमान लगाकर आवश्यक तैयरियाँ शुरू कर दी गई है. कई जगहों पर आइसोलेशन सेंटर बनाया जा रहा है. वही उन सेन्टरों पर ऑक्सीजन बेड, वेंटीलेटर के साथ साथ ही डॉक्टर और नर्सिंग कर्मचारियों की नियुक्ति की जा रही है.

बिहार: 28 अप्रैल से 18 से ऊपर वालों का रजिस्ट्रेशन, एक मई से लगेगी ये वैक्सीन

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें