बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर भाकपा माले महासचिव ने EC को दिया ये बड़ा सुझाव

Smart News Team, Last updated: 18/07/2020 06:15 PM IST
  • कोरोना काल में बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर भाकपा माल के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने चुनाव आयोग को कुछ सुझाव दिए हैं।
बिहार में होने हैं विधानसभा चुनाव

पटना. कोरोना लॉकडाउन के बीच चुनाव आयोग की पार्टियों के संग मीटिंग के बाद बिहार में चुनावी माहौल एक बार गर्म है। सबसे बड़ी परेशानी है कोरोना के फैलते संक्रमण के बीच चुनाव का आयोजन कराना। इसी संबंध में लेफ्ट पार्टी भाकपा माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कोरोना काल में चुनाव कराने को लेकर बयान दिया है।

भाकपा माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा है कि बिहार में अगर चुनाव आयोजित कराया जाता है तो चुनाव आयोग को कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए प्रत्येक 250 मतदाताओं पर एक बूथ बनाना चाहिए। अगर ऐसे बूथ बना तो ही फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन हो सकता है।

मौसम विभाग की चेतावनी- बिहार में भारी बारिश के साथ फिर कहर मचा सकता है व्रजपात

दीपंकर भट्टाचार्य ने आगे कहा कि चुनाव आयोग यह देखे कि बिहार में यह चुनाव कोरोना संक्रमण को फैलाने का जरिया न बन जाए। उन्होंने कहा कि 65 वर्ष के लोगों के लिए पोस्टल बैलट के प्रधान को रद्द नहीं किया जाए। आयोग चुनाव कराने के पहले सभी राजनीतिक दलों से व्यापक राय मशविरा करे। और आम लोगों की सलाह भी ले।

लॉकडाउन के बावजूद पटना में डरा रही कोरोना की रफ्तार, 139 नए पॉजिटिव केस

दरअसल बिहार में अक्टूबर में संभवित विधानसभा चुनाव को लेकर आयोग भी समझता है कि ऐसी महामारी के माहौल में अगर जरा सी चूक हुई तोह हालात बद से बदतर हो सकते हैं।

 

अन्य खबरें