बीएमपी सुसाइड मर्डर: बिहार में पुलिस के 8 जवान दे चुके हैं इस साल जान

Smart News Team, Last updated: 01/09/2020 05:04 PM IST
  • साल 2020 में अभी तक बिहार पुलिस के 8 जवान आत्महत्या कर चुके हैं. ये जवान अपनी सर्विस रिवाल्वर से खुदखुशी कर रहे हैं. मंगलवार को भी पटना में बीएमपी में तैनात एक महिला और एक पुरुष जवान ने अपनी सर्विस रिवाल्वर से एक साथ खुदकुशी कर ली.
मंगलवार को पटना के बिहार सैन्य पुलिस बल में दो जवानों ने अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली.

पटना. बिहार में पुलिस कर्मियों के आत्महत्या का सिलसिला थम नहीं रहा है. जनवरी माह से अब तक 8 पुलिसकर्मी अपनी जान दे चुके हैं. मंगलवार को राजधानी पटना के बिहार सैन्य पुलिस बल (बीएमपी) में तैनात एक महिला और एक पुरुष जवान ने एक साथ आत्महत्या कर कर ली. जानकारी के अनुसार दोनों ने अपने सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या की है. मृतक की पहचान 36 वर्षीय अमर सुब्बा और 28 वर्षीय वर्षा के रूप में हुई है. 

यदि बात करें पिछले महीनों के दौरान पुलिसकर्मियों द्वारा आत्महत्या करने की तो 20 जनवरी को एक 27 वर्षीय पुलिस कॉन्स्टेबल चंद्र भूषण कुमार ने सीतामढ़ी में एके-47 राइफल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी. आत्महत्या से पहले उसने इसी रिवाल्वर से अपनी 24 वर्षीय पत्नी मधु कुमारी की भी गोली मारकर हत्या कर दी थी.

पटना: बीएमपी में महिला और पुरुष कॉन्स्टेबल ने मारी खुद को गोली, मौत

इसके बाद 12 दिन बाद 2 फरवरी को एक पुलिस कॉन्स्टेबल और डीएसपी (पूर्व) के अंगरक्षक पवन कुमार(36) ने मुजफ्फरपुर में अपनी सर्विस रिवाल्वर एके-47 राइफल से गोली मारकर खुदकुशी कर ली.

इसके बाद 2 मई को एसएसबी के एक सहायक उप निरीक्षक रैंक के अधिकारी ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली. यह अधिकारी सीतामढ़ी जिले के भारत-नेपाल सीमा पर बैरगनिया में तैनात था.

पटना: लालू, तेजस्वी को एक और झटका, तेघड़ा राजद MLA वीरेंद्र कुमार JDU में शामिल

यह मामला शांत भी नहीं हुआ था कि 10 दिन बाद 12 मई को एसएसबी के ही एक जवान ने अपनी सर्विस राइफल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या करने वाले इस जवान की पहचान ललित भाटी के रूप में हुई जिसने बिहार के गया जिले के गुरपा में 29 वीं बटालियन शिविर में आत्महत्या कर ली.

इसके बाद 12 जून को कटिहार के एक अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश के अंगरक्षक की खुदकुशी का मामला सामने आया, जिसने कथित तौर पर अपने सिर पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली. मृतक की पहचान बेगूसराय के रहने वाले 26 वर्षीय विकास कुमार के रूप में हुई.

बिहार पुलिस में दारोगा बहाली की मुख्य परीक्षा 11 अक्टूबर को, 13 जिलों में सेंटर

इस घटना के 4 दिन बाद ही 16 जून को दरभंगा एसएसपी के एक एस्कॉर्ट गार्ड चिंटू कुमार(22) ने एसएसपी के आधिकारिक आवास में स्थित बैरक में खुद को गोली मार ली.

आत्महत्या करने वाले पुलिस जवानों में से अधिकांश युवा हैं और सभी ने अपनी सर्विस रिवाल्वर से ही आत्महत्या की है. आखिर ऐसा क्या कारण रहा जिसकी वजह से मजबूर होकर उन्हें आत्महत्या करनी पड़ी. यह एक गंभीर सवाल पैदा करता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें