पटना: शहर के मोहल्लों में सबसे ज्यादा कोरोना का खतरा फिर भी सो रहा प्रशासन

Smart News Team, Last updated: 05/08/2020 03:23 PM IST
  • राजधानी पटना में कोरोना वायरस का कहर जारी है. राजधानी में हर रोज सैंकड़ों मामले सामने आ रहे हैं. शहर के मुहल्लों में संक्रमण तेजी से फैल रहा है. हालांकि, इस बात को ध्यान में रखकर भी प्रशासन कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा. सैनिटाइजेशन तक नहीं किया जा रहा है.
पटना शहर के मोहल्लों में बढ़ा कोरोना संक्रमण का खतरा

पटना. कोरोना वायरस का कहर पटना में लगातार जारी है. राजधानी में प्रतिदिन सैंकड़ों मामले सामने आ रहे हैं. छोटे-छोटे जिले के मोहल्ले से भी अब संक्रमण फैलने की खबर आने लगी है. यह बात सिर्फ चिंताजनक नहीं बल्कि डरावनी भी है क्योंकि अगर कम्युनिटी स्प्रेड हुआ तो मुश्किल हो जाएगी. इस सब के बावजूद भी प्रशासन इन मोहल्लों की कोई सुध नहीं ले रहा.

 कोरोना के बढ़ते संक्रमण के खतरे के बावजूद ना इन मोहल्लों में सैनेटाइजेशन व कीटनाशकों का छिड़काव हो रहा है और ना ही कोई कोरोना के नियम माने जा रहे हैं. मंगलवार को हिन्दुस्तान के घंटी बजाओ अभियान के दौरान आम लोगों ने अपनी परेशानियां बताईं.

केस में जांच पर SC की रोक नहीं, CBI जांच का आदेश आज निकालेगी सरकार

श्रीकृष्णा नगर निवासी मुकेश ने बताया कि संक्रमण बढ़ने के बावजूद मोहल्ले में सैनेटाइजेशन, छिड़काव नहीं हो रहा है. हाल ही में एक कोरोना पीड़ित मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई. साथ ही कई संक्रमित लोग होम क्वारंटाइन हैं. अब घर से बाहर निकलने पर भी लोगों को संक्रमण का डर रहता है.

4 साल में ग्रामीण सब्जी मंडी नहीं बनवा पाए सुशासन बाबू, किसानों पर संकट

वहीं प्रेम कुमार रंजन निवासी अशोक नगर कंकड़बाग ने बताया कि सड़क नंबर 1 पूरी तरह जर्जर है. बारिश के बाद हालात एकदम खराब हो जाते हैं. लोगों को आवागमन में काफी परेशानी आ रही है. मरम्मत कराने की जरूरत है. वहीं कोरोना के फैलते डर के बीच भी इलाके में सैनेटाइजेशन और छिड़काव कार्य नहीं किया जा रहा है. लोग बिना नियमों के घूम रहे जिससे एक डर बना रहता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें