पटना

डरने की जरूरत नहीं, पटना प्रमंडल में एक दिन में 763 मरीजों ने कोरोना से जीती जंग

Shankar Pandit, Last updated: 25/07/2020 10:00 AM IST
  • पटना प्रमंडल में कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की संख्या में इजाफा हुआ है।
कोरोना अनलॉक 1 में पार्क खुलने के बाद कसरत करते पटना के लोग (फाइल फोटो)

बिहार में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार भयावह होता जा रहा है। राजधानी पटना समेत बिहार के विभिन्न इलाकों में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में लगाता इजाफा हो रहा है। मगर इस बीच अच्छी खबर यह है कि कोरोना को मात देकर इससे ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी अधिक है। पटना प्रमंडल में कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की संख्या में इजाफा हुआ है। 

पटना: 3 दिन हॉस्पिटल का लगाया चक्कर पर कहीं नहीं मिला इलाज,फिर जिंदगी से हार गया

पटना प्रमंडल में कोरोना वायरस के रिकवरी रेट की बात करें तो शुक्रवार यानी 24 जुलाई को एक दिन में 763 लोग स्वस्थ हुए हैं। इनमें से कुछ लोग अस्पताल में भर्ती थे, जबकि कुछ होम आइसोलेशन में थे।

प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि कोरोना वायरस से घबराने की जरूरत नहीं है, बल्कि इससे सावधानी बरतने और सचेत रहने की आवश्यकता है। संक्रमित व्यक्ति काफी संख्या में ठीक हो रहे हैं। 

पटना में फिर फूटा कोरोना बम, 553 नए पॉजिटिव केस, संक्रमित 5 हजार पार, 40 मौत

उन्होंने कहा कि पटना प्रमंडल के जिलों में 24 जुलाई को कुल 763 कोरोना संक्रमित ठीक हुए हैं। इनमें पटना के 439, बक्सर के 45, भोजपुर के 24, कैमूर के 7, नालन्दा के 189 और रोहतास जिले के 59 मरीज हैं। बताया कि मरीजों की लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। साथ ही उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग के पालन की अपील की है।

पटना में कोरोना का ग्राफ

राजधानी पटना में शुक्रवार को 553 नए कोरोना के मामले मिले वहीं 13 मौतें हुई। गौरतलब है कि पटना में अब कुल संक्रमितों की संख्या 5281 पहुंच गई है। जिले में 2 हजार 67 एक्टिव केस हैं जबकि राहत की बात है कि 3 हजार 174 लोग पूरी तरह स्वस्थ्य होकर अपने घरों को लौट गए हैं।वहीं पटना में मौत का कुल आंकड़ा 40 पहुंच गया है।

अन्य खबरें