एम्स और एनएमसीएच में छह की मौत, चार पटना के रहने वाले

Smart News Team, Last updated: Wed, 29th Jul 2020, 11:00 AM IST
  • पटना में छह कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई जिनमें से चार पटना के ही रहने वाले थे. इन सभी का इलाज एम्स और एनएमसीएच में चल रहा था. 
एम्स और एनएमसीएच में छह की मौत, चार पटना के रहने वाले

पटना एम्स और एनएमसीएच में मंगलवार को छह लोगों की कोरोना से मौत हो गई. इनमें चार लोग पटना के ही रहने वाले थे. इसी के साथ पटना में मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. वहीं जांच के बाद पटना में 411 नए केस भी सामने आए थे. पटना में अब तक कोरोना के 7 हजार से ज्यादा केस आ चुके हैं. इनमें से अभी भी तीन हजार से ज्यादा केस सक्रिय हैं. खबर ये भी है कि पटना के ही सिविल सर्जन कोरोना संक्रमित हो गए हैं और होम आइसोलेशन में चले गए हैं.

पटना एम्स के कोरोना के नोडल पदाधिकारी डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि अस्पताल में मरने वालों में ईस्ट रामकृष्णानगर के बधाई टोला के उपेन्द्र शर्मा और फुलवारी के हारुननगर के हारुन रशीद हैं. एनएमसीएच के एपिडेमियोलॉजिस्ट डॉ. मुकुल कुमार सिंह ने बताया कि हृदयरोग से ग्रसित पाटलिपुत्रा के नेहरूनगर निवासी 73 वर्षीय रामनरेश प्रसाद, पटना के करजन सूर्यपारा निवासी 65 वर्षीय भूपनेश्वर प्रसाद सिंह की कोरोना से मौत हो गई. 

पटना के सिविल सर्जन डॉ. आरके चौधरी को कोरोना, नौकर से संक्रमण फैलने का शक

इसके अलावा जहानाबाद के समेत मखदुमपुर के 50 वर्षीय जर्नादन महतो और रोहतास के बाहेरी करगहर के 55 वर्षीय शिवपूजन पाठक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. इस तरह अस्पताल में कोरोना से मरने वालों की संख्या 83 हो गई है. एपिडेमियोलॉजिस्ट ने बताया कि संक्रमित मरीजों के शवों को प्रोटोकॉल के तहत प्लास्टिक में कवर करने के बाद बॉडी बैग में रखकर सेनेटाइज कर शव वाहन से अंतिम संस्कार के लिए भेजा गया है.

पटना में कोरोना का कोहराम, मंगलवार को 411 नए पॉजिटिव केस, 7 हजार पार कुल मामले

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें