पटना

पटना: पालीगंज शादी समारोह में कैसे हुआ कोरोना विस्फोट? 200 लोगों से होगी पूछताछ

Smart News Team, Last updated: 02/07/2020 01:46 PM IST
  • पालीगंज शादी समारोह मामले में अब जांच शुरू हो गई है। कोरोना के चेन को तोड़ने के लिए जांच के दौरान करीब दो सौ लोगों से पूछताछ की जाएगी और प्रशासन सख्ती से निपटेगा।
पालीगंज शादी समारोह से जुड़े लोगों पर कसता जा रहा शिकंजा

पटना के पालीगंज शादी समारोह ने पटनावासियों की नींद उड़ा दी है। जिस तरह से इस शादी से जुड़े करीब 111 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, उसने एक तरह से कोरोना के चेन को और मजबूत कर दिया है। बहरहाल, पालीगंज शादी समारोह मामले में अब जांच शुरू हो गई है। कोरोना के चेन को तोड़ने के लिए जांच के दौरान करीब दो सौ लोगों से पूछताछ की जाएगी और प्रशासन सख्ती से निपटेगा।

इस मामले में प्रारंभिक जांच में जानकारी मिली है दूल्हे की गुरुग्राम (गुड़गांव) में ही तबीयत खराब हो गई थी और उसी स्थिति में उसकी शादी कराई गई थी। यहां संक्रमित लोगों में 29 महिलाएं और 6 बच्चे भी शामिल हैं। बता दें कि शादी के दूसरे दिन ही दूल्हे की मौत हो गई थी।

संक्रमितों में अधिकतर बाराती

मामले की जांच करने वाले अधिकारियों की मानें तो पालीगंज में कोरोना पॉजिटिव हुए ज्यादातर लोग बाराती हैं। जांच अधिकारी ने कहा कि दूल्हे की तबीयत बिगड़ने के बाद उसे अस्पताल ले जाया गया, मगर उसकी कोरोना की जांच नहीं की गई। यह भी पता चला है कि दूल्हे के संपर्क में आने वाले ज्यादातर लोग पीड़ित हुए हैं।

लड़का पक्ष से हुआ संक्रमण

उन्होंने कहा कि दूल्हे के संक्रमण की स्थिति में उसके संपर्क में उसके घर वाले और आसपास के लोग आए थे, जिन्हें यह बीमारी हुई। पीड़ितों में ज्यादातर बाराती हैं। इससे और स्पष्ट हो जाता है कि संक्रमण लड़का पक्ष से हुआ है। यह भी पता चला है कि संक्रमितों की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। इनमें ज्यादातर लोग स्वस्थ थे, मगर शादी समारोह के बाद इनकी स्थिति बिगड़ी।

दूल्हे का बिना जांच अंतिम संस्कार क्यों

पालीगंज एसडीओ ने कहा कि दूल्हे को कोरोना है या नहीं, इसकी जांच किए बिना अंतिम संस्कार क्यों कर दिया गया, इस संबंध में भी घर वालों से पूछताछ की जाएगी। यह भी जांच की जा रही है कि खाना बनाने वाला रसोइया और सब्जी सप्लाई करने वाला व्यापारी इसकी चपेट में कैसे आ गए। हालांकि, पीड़ितों में किसी की हालत गंभीर नहीं है, मगर 6 बच्चों पर विशेष ध्यान रखा जा रहा है, क्योंकि उन्हें इस बीमारी से ज्यादा खतरा है।

बाराती और घराती पक्ष को नोटिस

शादी विवाह के लिए अधिकतम 50 लोगों को ही भाग लेने की अनुमति है, फिर भी पालीगंज शादी समारोह में 50 से अधिक लोग कैसे भाग लिए, इस संबंध में लड़का और लड़की पक्ष के लोगों को पटना जिला प्रशासन नोटिस देगा और उनसे सख्ती से निपटेगा।

अन्य खबरें