पटना: बेकाबू हुआ कोरोना वायरस, स्वास्थ्य विभाग के जॉइंट सेक्रेटरी भी पॉजिटिव

Smart News Team, Last updated: Mon, 20th Jul 2020, 1:12 PM IST
  • बिहार स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त सचिव डॉ कौशल किशोर भी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं. संक्रमण के बाद वो होम आइसोलेशन में हैं.
प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. बिहार में कोरोना वायरस के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं. अब बिहार स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त सचिव डॉ कौशल किशोर भी इसकी चपेट में आ गए हैं. संक्रमण के बाद वो होम आइसोलेशन में चले गए हैं. स्वास्थ्य विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने इस बारे में पुष्टि की है. बता दें कि बिहार में कोरोना नियंत्रण के लिए उपाय किए जा रहे हैं. इसमें डॉ कौशल किशोर भी प्रशासनिक सेवा के साथ चिकित्सा सेवा भी दे रहे हैं. इनके अलावा राज्य स्वास्थ्य समिति के वित्तीय सलाहकार केएल दास भी कोरोना से संक्रमित थे और इलाज के दौरान ही उनकी मौत हुई. समिति कार्यालय सेनेटाइज किया गया.

वहीं केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पटना में अस्पताल बनाने का सुझाव दिया. ये कोरोना को नियंत्रण करने के उपाय के तहत दिया गया है. इस पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, मुख्य सचिव दीपक कुमार, एम्स पटना के निदेशक और पटना के ज़िलाधिकारी समेत संबंधित लोगों से इस विषय पर विचार और चर्चा की. 

तीसरी सोमवारी पर कोरोना और बाढ़ से मुक्ति के लिए तेजस्वी यादव ने की शिव पूजा

इस दौरान अस्पताल बढ़ाना का सुझाव दिया गया है. साथ ही कहा है कि पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोरोना के इलाज के लिए एक अलग से विंग बने. कहा गया है कि पटना में बड़े निजी अस्पतालों में भी कोरोना के इलाज की व्यवस्था हो. ऐसा करने के लिए सरकार को पहल करने के लिए कहा गया. कहा जा रहा है कि इससे सरकारी अस्पताल पर दबाव कम होगा.

बिहार में कोरोना पर कंट्रोल कैसे?दिल्ली-मुंबई का नाम ले सेंट्रल टीम ने दिए सुझाव

कोरोना मरीज़ों के इलाज के लिए बिहार में केंद्र सरकार ने 264 नए वेंटिलेटर उपलब्ध करवाए हैं. इसके अलावा पिछले दो महीनों में बिहार में 364 वेंटिलेटर उपलब्ध करवा चुके हैं. बिहार स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि कोरोना मरीज़ों के इलाज के लिए संभव उपाय किए जा रहे हैं.

केंद्र ने बिहार में मरीजों के इलाज के लिए 100 वेंटिलेटर के अलावा 264 अतिरिक्त वेंटिलेटर भी भेजे हैं. इनमें से 25 वेंटिलेटर एम्स, पटना और राज्य के कई मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में दिए गए हैं. विभाग को 364 विंटिलेटर केंद्र द्वारा प्राप्त हुए हैं और राज्य सरकार ने भई 30 वेंटिलेटर उपलब्ध करवाए हैं. अभी केंद्र की ओर से 100 वेंटिलेटर और दिए जाने हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें