पटना

पटना में कोरोना ने कर दिया सबसे बड़ा हमला, 450 मरीज मिलने से मचा हड़कंप, 2 मौतें

Smart News Team, Last updated: 23/07/2020 09:46 AM IST
  • बिहार की राजधानी पटना में लॉकडाउन के बीच बड़ा कोरोना विस्फोट देखने को मिला है। पटना में बुधवार को एक साथ कोरोना वायरस के 450 मरीज मिलने से हड़कंप मच गया।
बिहार की राजधानी पटना में कोरोना वायरस ने हाहाकार मचा दिया है।

बिहार की राजधानी पटना में लॉकडाउन के बीच बड़ा कोरोना विस्फोट देखने को मिला है। पटना में बुधवार को एक साथ कोरोना वायरस के 450 मरीज मिलने से हड़कंप मच गया। राजधानी में एक सप्ताह में यह दूसरी बार है कि जब एक साथ कोरोना वायरस के 400 से ज्यादा पॉजिटिव केस मिले हैं। बुधवार को मिले कोरोना केसों को मिलाकर पटना जिले में संक्रमितों की संख्या 4422 पर पहुंच गई। इनमें 2063 एक्टिव केस तथा 2323 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं, अब तक कुल 36 लोगों की मौत कोरोना से हो चुकी है। बुधवार को पटना के दो कोरोना संक्रमितों की मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई है।

पटना: एक चौथाई पद से चल रहे सरकारी आईटीआई के लिए ढाई हजार पदों पर होगी नियुक्ति

सिविल सर्जन डॉ. आरके चौधरी ने कहा कि रैपिड एंटीजन किट से जांच शुरू होने के बाद संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ी है। एक-एक दिन में हजारों सैंपलों की जांच हो रही हैं। पीएमसीएच में पटना के 84, आईजीआईएमएस में 61 और पटना एम्स में 28 कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज मिले हैं। मंगलवार की तरह ही बुधवार को भी पटना के वीवीआईपी इलाके, दफ्तर और कॉलोनियों में बड़ी संख्या में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं।

यहां ध्यान देने वाली बात है कि कोरोना का असर सबसे अधिक शहरी इलाकों में दिख रहा है। कोरोना वायरस के 450 पॉजिटिव केसों में से करीब 370 पटना शहरी इलाके के ही हैं। इनमें कंकड़बाग, राजीवनगर, पाटलिपुत्रा कॉलोनी, पटना सिटी, गर्दनीबाग, कदमकुआं, फुलवारीशरीफ, राजेंद्रनगर, गांधी मैदान, एग्जीबिशन रोड, लोदीपुर, बोरिंग रोड, एसके पुरी आदि इलाके के हैं। इसके अलावा बाढ़, बिक्रम, नौबतपुर, बिहटा और मसौढ़ी में भी संक्रमित मिले हैं। वहीं, छपरा (सारण) के सिविल सर्जन को होटल पाटलिपुत्र अशोका के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराय गया है।

राजद नेता राज किशोर यादव का कोरोना से निधन, लालू प्रसाद यादव के बेहद करीबी थे

एम्स में भर्ती 36 नए संक्रमितों में से 28 पटना के

पटना एम्स में बुधवार को भर्ती कराए गए 36 संक्रमितों में से 28 पटना के हैं। संक्रमितों में पटना से लेकर खगौल तक के लोग शामिल हैं। सबसे ज्यादा कंकड़बाग से तीन, गांधी मैदान से दो, गर्दनीबाग से दो, पटना सिटी से दो संक्रमित मिले। इसके अलावा महेशनगर, दीघा, राजेंद्रनगर, बोरिंग रोड, आनंदपुरी, जक्कनपुर, पाटलिपुत्रा कॉलोनी, फतुहा, बख्तियारपुर, बहादुरपुर हाउसिंग कॉलोनी, राजा बाजार, एम्स, एसकेपुरी से भी एक-एक संक्रमित मिले। एम्स के कोरोना के नोडल पदाधिकारी डॉ. संजीव कुमार के मुताबिक स्वस्थ होने के बाद 36 लोगों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। हालांकि नवादा के सिविल सर्जन और बिहार के एक सांसद को पटना एम्स में भर्ती कराया गया है।

पीएमसीएच में मिले 84 कोरोना मरीज

पीएमसीएच में लगभग पांच नर्सिंग स्टाफ, सफाईकर्मी, सहायक व अन्य कर्मियों सहित कुल 84 लोग संक्रमित मिले। इनमें सभी पटना के अलग-अलग इलाके से भर्ती करीब 64 मरीज भी शामिल हैं। प्राचार्य डॉ. बीपी चौधरी ने बताया कि पीएमसीएच में कुल 376 सैंपलों की जांच की गई । इनमें 188 रैपिड एंटीजन किट, जबकि इतने ही आरटीपीसीआर मशीन से जांच की गई। किट से कुल 48, जबकि आरटीपीसीआर से 36 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

कोरोना: पटना में बिना मास्क कट रहा चालान, गमछा या दुपट्टा लटकाना काम ना आया

आईजीआईएमएस दो डॉक्टर, पांच नर्सिंग स्टाफ समेत 19 मरीज पॉजिटिव

आईजीआईएमएस के दो डॉक्टर, पांच नर्सिंग स्टाफ समेत 19 मरीज कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसके अलावा पटना के 52 अन्य सैंपलों की जांच भी पॉजिटिव आई है। ये सैंपल सिविल सर्जन कार्यालय ने भेजे थे।

पटना के दो लोगों की मौत

पटना एम्स में बुधवार को पटना के दो लोगों समेत आठ की कोरोना से मौत हो गई। इनमें सगुना मोड़ का एक युवक तथा दानापुर नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष राजकिशोर यादव शामिल हैं। पटना एम्स के नोडल पदाधिकारी डॉ. संजीव कुमार ने बताया कि दानापुर के सगुना मोड़ निवासी सोनू कुमार (36) और दानापुर नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष राजकिशोर यादव की कोरोना से मौत हो गई है।

अन्य खबरें