पप्पू यादव की मुश्किलें बढ़ी, 2019 के केस में पटना कोर्ट से प्रोडक्शन वारंट जारी

Smart News Team, Last updated: Mon, 14th Jun 2021, 10:52 PM IST
  • पटना के एसीजेएम कोर्ट से कुछ दिन पहले जारी प्रोडक्शन वारंट मिला है. पप्पू यादव फिलहाल इलाज के लिए डीएमसीएच में एडमिट हैं. इस वजह से उनकी कोर्ट के सामने वर्चुअल पेशी नहीं हो सकी.
पप्पू यादव को 2019 के केस में पटना कोर्ट से प्रोडक्शन वारंट जारी किया गया है.

पटना- पूर्व सांसद सह जाप सुप्रीमो पप्पू यादव की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. किडनैपिंग के एक 32 साल पुराने मामले में पटना की एक अदालत ने वीरपुर जेल प्रशासन को प्रोडक्शन वारंट भेजा है. यह मामला तकरीबन तीन साल पुराना है.

वीरपुर कारा अधीक्षक राजीव कुमार के मुताबिक, पटना के एसीजेएम कोर्ट से कुछ दिन पहले जारी प्रोडक्शन वारंट मिला है. पप्पू यादव फिलहाल इलाज के लिए डीएमसीएच में एडमिट हैं. इस वजह से उनकी कोर्ट के सामने वर्चुअल पेशी नहीं हो सकी. उन्होंने आगे बताया कि वैसे यह कोर्ट का मामला है. इसलिए विशेष कुछ नहीं कहा जा सकता है. उधर, मामले को लेकर जाप कार्यकर्ताओं ने एक बार फिर निराशा और आक्रोश है.

खुशखबरी! UP-बिहार से वैष्णो देवी के लिए चलेगी वीकेंड स्पेशल ट्रेन, जानें डिटेल

जाप के राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद ने आरोप लगाया कि सरकार अब खुले तौर पर उनके माननीय नेता के खिलाफ साजिश कर रही है. उन्होंने आगे कहा कि तीन साल पुराने जिस मामले में प्रोडक्शन वारंट भेजा है, इस मामले में उन्हें थाना से ही बेल मिल गई थी. बताते चलें कि पूर्व सांसद पर 1990 के बाद दर्ज लगभग सभी केस जन आंदोलन और आचार संहिता उल्लंघन से जुड़े हुए हैं. जाप राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि सभी केस सरकार के इशारे पर दर्ज किये गये थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें