पटना

पटना: राजधानी में बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या, बनेंगे 4 नए आइसोलेशन वार्ड

Smart News Team, Last updated: 10/06/2020 03:42 PM IST
  • पटना में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर जिला प्रशासन चार जगहों पर आइसोलेशन वार्ड बनाने की तैयारी में है। इन चारों आइसोलेशन वार्डों में करीब 1 हजार बेड होंगे।
पटना में बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या, जिला प्रशासन ने लिया 4 नए आइसोलेशन वार्ड बनाने का फैसला। 

पटना. राजधानी पटना में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर जिला प्रशासन चार जगहों पर आइसोलेशन वार्ड बनाने की तैयारी में है। इन चारों आइसोलेशन वार्डों में करीब 1 हजार बेड होंगे जहां जरूरत के हिसाब से मरीजों को भर्ती किया जाएगा। मंगलवार को डीएम कुमार रवि की अध्यक्षता में हुई बैठक के दौरान यह फैसला लिया गया।

डीएम कुमार रवि ने बैठक में कहा कि जिले में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है इसलिए नए आइसोलेशन वार्ड तैयार किए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि ये चारों आइसोलेशन वार्ड जिले के अलग-अलग इलाकों में होंगे। जिनमें 244 बेड के साथ दीप नारायण सिंह कोऑपरेटिव मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट (शास्त्री नगर), 400 बेड के साथ प्रशिक्षण केंद्र (बाढ़), 200 बेड के साथ प्रशिक्षण केंद्र (बिक्रम) और 200 बेड के साथ ही प्रशिक्षण केंद्र (मसौढ़ी) को आईसोलेशन सेंटर में तब्दील किया जाएगा। इसके साथ ही ईएसआई बिहटा को आइसोलेशन वार्ड के रूप में विकसित करने का निर्देश दिया गया है।

जिले में पूर्व से सात आइसोलेशन वार्ड कार्यरत हैं, जिनमें 1906 बेड की व्यवस्था है। वहीं जिले में वर्तमान में 32 कंटेनमेंट जोन हैं। दरअसल इससे पूर्व में कंटेनमेंट जोन की संख्या 49 थी, जिनमें 17 मुक्त हो गए हैं।

आपको बता दें कि कोरोना में प्रोटोकॉल के तहत अंतिम पॉजिटिव केस से 28 दिन तक कंटेनमेंट जोन प्रभावी रहता है। राजधानी के कुल 32 कंटेनमेंट जोन क्षेत्र में 32, 875 घरों का सर्वे हो चुका है। इनमें 1 लाख 42 यार 639 पारिवारिक सदस्य का सर्वे संपन्न हुआ है। इस दौरान कोई पॉजिटिव मामला नहीं पाया गया।

 

अन्य खबरें