पटना के बिजली कर्मी करवा सकेंगे निजी लैब में कोरोना जांच, कंपनी उठाएगी खर्च

Smart News Team, Last updated: 25/07/2020 06:47 PM IST
पटना बिजली कर्मी अब निजी लैब में भी कोरोना की जांच करवा सकेंगे. अधिकृत लैब में जांच का 2500 रुपए तक का खर्च कंपनी उठाएगी.
पटना के बिजली कर्मी करवा सकेंगे निजी लैब में कोरोना जांच, सरकार उठाएगी खर्च

बिहार बिजली विभाग में कार्यरत या सेवानिवृत्त कर्मी अब केवल सरकारी ही नहीं बल्कि निजी लैब में भी कोरोना की जांच करा सकते हैं. जांच कराने का खर्चा कंपनी को देना होगा. इसके लिए सरकार ने नियम बनाया है. साथ ही कंपनी को इसके आदेश दे दिए हैं. इसमें लगभग 20 हजार कार्यरत और सेवानिवृत्त कर्मियों को फायदा होगा. 

पटना जाकिर हुसैन के संस्थापक प्रोफेसर उत्तम सिंह का निधन, कोरोना से मौत की आशंका

दरअसल लॉकडाउन के बावजूद बिजली कर्मी काम कर रहे हैं. आम जनता को बिजली देने के लिए कर्मी अपनी जान की परवाह किए बगैर दिन-रात काम कर रहे हैं. वहीं कई इलाकों में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में सरकार ने आदेश दिया है कि सभी कर्मी कोरोना संक्रमण के खतरे में काम कर रहे हैं इसलिए वे अपनी जांच करवाएं और जांच का खर्च कंपनी वहन करेगी. ये आदेश कंपनी के निदेशक मंडल की बैठक होने के बाद जारी किया गया. 

खौफनाक: पटना में शव यात्रा में शामिल 16 लोग निकले कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

वहीं सरकारी अस्पतालों में पहले ही कोरोना के मरीजों की संख्या ज्यादा होने से समस्या बढ़ सकती है. यही कारण है कि कर्मियों को निजी अस्पतालों में भी इलाज की सुविधा दी जा रही है. बिहार स्टेट पावर होल्डिंग कंपनी लिमिटेड के अलावा इसकी सहायक कंपिनयों में ट्रांसमिशन व नॉर्थ व साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी में कार्यरत कर्मियों को निजी लैब में भी कोरोना जांच की सुविधा दी जाएगी.

डरने की जरूरत नहीं, पटना प्रमंडल में एक दिन में 763 मरीजों ने कोरोना से जीती जंग

कंपनी ने छह मार्च 2018 को तैयार चिकित्सा नियमावली में संशोधन किया है. इसमें कोरोना को शामिल किया गया है. डॉक्टरों की सलाह पर बिजली कर्मी या सेवानिवृत्त कर्मियों के परिजन भी कोरोना संक्रमण की जांच करा सकते हैं. निजी लैब में जांच के खर्च वहन की दर 2500 रुपए तय की गई है. कर्मी के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर उन्हें वैतनिक अवकाश भी दिया जाएगा.

अन्य खबरें