पटना: मॉडल मोना रॉय हत्याकांड में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, आरोपी आरा से गिरफ्तार

Somya Sri, Last updated: Sun, 24th Oct 2021, 9:51 AM IST
  • पटना पुलिस और भोजपुर पुलिस की संयुक्त टीम ने मोना रॉय मर्डर केस में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मॉडल मोना राय का मर्डर करने वाले शूटर भीम यादव की गिरफ्तारी आरा से हुई है. भोजपुर जिले के उदवंतनगर थाना क्षेत्र के भगवतीपुर गांव में छापेमारी के दौरान आरोपी गिरफ्तार हो गया. बताया जा रहा है कि भीम यादव ने ही 5 लाख रुपये की सुपारी लेकर मॉडल मोना राय को शूट किया था.
पटना की चर्चित मॉडल मोना रॉय (फाइल फोटो)

पटना: पटना की चर्चित मॉडल मोना रॉय हत्याकांड में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने मोना रॉय मर्डर केस में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मॉडल मोना राय का मर्डर करने वाले शूटर की गिरफ्तारी आरा से हुई है. 12 अक्टूबर को मोना रॉय जब अपनी बेटी के साथ मंदिर से पूजा करके स्कूटी से लौट रही थी. तब उन्हें उनकी बेटी के सामने गोली मार दी गई थी. जिसके बाद इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया था.

मिली जानकारी के मुताबिक पटना पुलिस और भोजपुर पुलिस की संयुक्त टीम ने आरोपी को आरा स गिरफ्तार किया है. भोजपुर जिले के उदवंतनगर थाना क्षेत्र के भगवतीपुर गांव में छापेमारी के दौरान आरोपी भीम यादव गिरफ्तार हो गया. बताया जा रहा है कि भीम यादव ने ही 5 लाख रुपये की सुपारी लेकर मॉडल मोना राय को शूट किया था.

पटना मेट्रो के लिए भूमि अधिग्रहण प्रक्रिया शुरू, आपत्ति दर्ज कराने को मिलेंगे 60 दिन

मालूम हो कि राजधानी में कुछ दिन पहले मॉडल मोना राय पर उनके घर के पास अज्ञात बदमाशों ने हमला कर दिया था. जिसमें उनको गोली लग गई थी. गंभीर रूप से घायल मोना की इलाज के दौरान मौत हो गई. मोना की मौत के बाद से पुलिस पर कई सवाल खड़े हुए थे. बताया जा रहा है कि मोना पर हमले के बाद पुलिस घायल मोना के ठीक होने का इंतजार कर रही थी. ताकि मोना राय से ही घटना की जानकारी ली जा सके. लेकिन मोना की मौत के बाद पुलिस के लिए यह घटना और ज्यादा उलझ गई थी.

वहीं, पुलिस का कहना था कि घटना में प्रेम संबंध भी एक कारण हो सकता है. वहीं, मृतका के पति ने इस मामले में पुलिस से सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बदमाशों की पहचान करने की बात कही थी. बता दें कि मोना राय को बदमाशों ने उनके घर के करीब ही गोली मार दी. इस दौरान मोना की बेटी वहां मौजूद थी. गोली की आवाज सुन परिजनों ने बाहर आकर घायल पड़ी मोना को हॉस्पिटल में भर्ती कराया. जहां डॉक्टरों ने बताया कि कमर के नीचे गोली फंसने से उनका लीवर डैमेज हो गया. बाद में मोना ने दम तोड़ दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें