पटना: आज से वर्चुअल मोड में होगी गांधी मैदान सीरियल बम ब्लास्ट केस की सुनवाई

Smart News Team, Last updated: 07/09/2020 10:36 AM IST
  • पटना गांधी मैदान सीरियल बम ब्लास्ट केस की सुनवाई आज से वर्चुअल मोड में होगी. एनआईए कोर्ट ने जेल में बंद दस आरोपियों को वर्चुअल मोड से पेश करने का निर्देश दिया है. 27 अक्टूबर 2013 को गांधी मैदान में बीजेपी की हुंकार रैली हुई थी. इसी दौरान पटना जंक्शन पर हुआ था बम विस्फोट.
पटना: आज से वर्चुअल मोड में होगी गांधी मैदान सीरियल बम ब्लास्ट केस की सुनवाई

पटना. पटना गांधी मैदान सीरियल बम ब्लास्ट मामले में सोमवार से वर्चुअल मोड में सुनवाई शुरू हो रही है. 2013 के इस मामले में अंतिम सुनवाई लंबित है. केस के आरोपियों को भी जेल से वर्चुअल मोड में ही कोर्ट में पेश किए जाने के निर्जेश हैं. बीजेपी की हुंकार रैली के दौरान गांधी मैदान व पटना जंक्शन पर 2013 में सीरियल बम ब्लास्ट हुए थे जिसकी आज से अंतिम सुनवाई शुरू हो रही है. 

एनआईए कोर्ट, पटना ने वर्चुअल मोड में आज से एनआईए के अभियोजन और बचाव पक्ष के वकीलों को अपनी-अपनी बहस करने के निर्देश दिए. गौरतलब हो की पटना गांधी मैदान सीरियल बम ब्लास्ट मामले की अंतिम सुनवाई जून 2018 से लंबित है. इस मामले में आरोपियों का बयान 2 नवंबर 2017 से लेकर 2 दिसंबर 2017 तक एनआईए कोर्ट ने दर्ज किया था.

नीतीश कुमार फूंकेंगे चुनाव प्रचार का बिगुल, पटना गांधी मैदान में वर्चुअल रैली

बता दें कि 27 अक्टूबर 2013 को पटना के गांधी मैदान में बीजेपी ने हुंकार रैली आयोजित की थी. इस दौरान मैदान में भीड़ जमा थी. तभी पटना में सीरियल ब्लास्ट हुए. ये ब्लास्ट पटना जंक्शन के सुलभ शौचालय में और रैली के दौरान गांधी मैदान में हुए. पटना जंक्शन पर ब्लास्ट में एक आरोपी भी घायल हुआ था जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी. इन सीरियल ब्लास्ट में कई लोग घायल थे.

एलजेपी बिहार चुनाव एनडीए के साथ लड़ेगी या नहीं, कल बैठक में हो सकता है फैसला !

एनआईए की टीम ने 31 अक्टूबर 2013 को मामले में एफआईआर दर्ज की और जांच शुरू की. हैदर अली समेत दस आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट एनआईए कोर्ट में दाखिल हुई. बेऊर जेल में न्यायिक हिरासत में भेजे गए सभी दस आरोपियों को एनआईए ने गिरफ्तार कर लिया. किसी को भी जमानत नहीं दी गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें