पटना

आखिर क्यों पटना में टाइपिंग क्लास जा रही छात्रा ने गंगा में कूदकर दे दी जान?

Smart News Team, Last updated: 13/06/2020 03:19 PM IST
  • पटना में जब रोज की तरह अलीशा घर से टाइपिंग क्लास के लिए निकली तो उसके परिजनों को भी ख्याल भी नहीं होगा कि अब बेटी का शव ही वापस आएगा।
पटना में टाइपिंग क्लास जा रही छात्रा ने गंगा में कूदकर दे दी जान

पटना. लोगों के लिए जिंदगी इतनी कम कीमती हो गई कि उसे खत्म करने से पहले एक बार नहीं सोचते। राजधानी पटना में भी एक 22 साल की लड़की अलीशा ने गंगा नदी में छलांग लगाकार जान दे दी। जक्कनपुर इलाके के बंगाली टोले पर रहने वाली अलीशा बीए थर्ड ईयर की छात्रा थी और रोज की तरह टाइपिंग क्लास के लिए अपने घर से निकली थी। लेकिन वापस सिर्फ उसका शव की घर पहुंचा।

मिली जानकारी के अनुसार, यह मामला पीरबहोर थाने के कृष्णा घाट का है। गुरुवार शाम अलीशा टाइपिंग क्लास के लिए घर से निकली लेकिन घर वापस नहीं लौटी। आमतौर पर वह 7-8 बजे तक लौट आती थी। अलीशा को घर नहीं पाकर उसके भाई ने उसके मोबाइल पर फोन मिलाया तो कॉल पुलिस ने रिसीव की। जब उसे घटना के बारे में बताया गया तो पैरों तले जमीन खिसक गई।

सूचना मिलते ही परिजन पहुंचे जहां उसके भाई ने अलीशा के शव की पहचान की। जिसके बाद में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच भेज दिया। पीरबहोर थानेदार रिजवान अहमद खान ने बताया कि अलीशा को खुदकुशी करते हुए कई लोगों ने देखा और रोकना भी चाहा लेकिन उसने किसी की नहीं सुनी और सीधा गंगा में कूद गई।

जब तक अलीशा को बचाते वह गहरे पानी में डूब गई। आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी गई जिसके बाद गोताखोरों की मदद से उसके शव को बाहर निकाला गया। पुलिस को छात्रा का बैग और मोबाइल घाट किनारे मिला। मोबाइल के जरिए ही उसकी पहचान हो सकी। अपने परिवार में दो बहन और एक भाई में अलीशा मंझीली संतान थी। फिलहाल अभी तक उसके परिजनों का बयान दर्ज नहीं किया गया है।

अन्य खबरें