पटना: हाईकोर्ट का आदेश, प्रतियोगिता परिक्षाओं के लिए बनाई जाए एक नीति

Smart News Team, Last updated: Sun, 21st Feb 2021, 1:56 PM IST
  • न्यायमूर्ति डॉ. अनिक कुमार उपाध्याय की एकल पीठ ने 35 छात्रों की ओर से दायर रिट याचिका पर सुनवाई की. कोर्ट ने बोर्ड को प्रतियोगिता परिक्षाओं के लिए एक नीति बनाने का आदेश दिया है.
पटना हाईकोर्ट 

पटना: एसटीईटी परीक्षा 2019 में गणित विषय में पूछे गए सवालों को लेकर हाईकोर्ट में रिट याचिका दायर करने वाले छात्रों को बड़ा झटका लगा है. पटना हाईकोर्ट ने दायर रिट याचिका पर हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया है. कोर्ट ने बोर्ड को प्रतियोगिता परिक्षाओं के लिए एक नीति बनाने का आदेश दिया है. बता दें शनिवार को न्यायमूर्ति डॉ. अनिक कुमार उपाध्याय की एकल पीठ ने 35 छात्रों की ओर से दायर रिट याचिका पर सुनवाई की.

मामले की सुनवाई के दौरा कोई को बताया गया कि गणित विषय की परीक्षा तीन अलग-अलग तिथियों में ली गई थी. तीनों तारीख के प्रश्न अलग-अलग स्तर के थे. वहीं कई प्रश्न सिलेबस के बाहर के थे. छात्रों की आपत्ति पर बोर्ड की ओर से एक्सपर्ट कमेटी का गठन किया गया. एक्सपर्ट कमेटी की जांच में सामने आया कि 10,11 और 14 को हुई परीक्षा के प्रश्न एक स्तर के नहीं थे.

सुशील मोदी बोले- निजी क्षेत्र को सरकारी MSP पर खरीद के लिए बाध्य करना संभव नहीं

आपको बता दें कि छात्रों की तरफ से दायर अर्जी पर कोर्ट ने हस्तक्षेप तो नहीं किया. लेकिन बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को आगे से एक ऐसी नीति बनाने का निर्देश दिया जिससे एक प्रतियोगिता परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्न एक ही स्तर के हों. नीति स्पष्ट हो ताकि भविष्य में ऐसी गलतियां दोहराई नहीं जाएं.

नीति आयोग की बैठक में CM नीतीश बोले-बिजली में वन नेशन वन रेट की नीति लागू हो

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें