कोरोना मरीजों के इलाज में लापरवाही पर पटना हाईकोर्ट सख्त

Smart News Team, Last updated: Tue, 18th May 2021, 3:22 PM IST
  • पटना हाईकोर्ट ने आदेश देते हुए कहा कि अगर समय पर अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज नहीं हुआ तो ये मौलिक अधिकारों का उल्लंघन होगा.
पटना हाईकोर्ट का आदेश

पटना: कोरोना महामारी के बीच हाईकोर्ट ने मरीजों के इलाज में हो रही लापरवाही को देखते हुए सख्त रुख अपनाया है. पटना हाईकोर्ट ने आदेश देते हुए कहा कि अगर समय पर अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज नहीं हुआ तो ये मौलिक अधिकारों का उल्लंघन होगा.

पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ ने जनहित मामलों पर सुनवाई करते हुए कहा कि बिहार में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कड़े कदम उठाने चाहिए. हाईकोर्ट ने कहा कि जरूरतमंदों को इलाज मुहैया कराना उसके मौलिक अधिकार का हिस्सा है.

कोरोना महामारी के बीच ताऊ-ते तूफान का यात्रियों पर पड़ा असर! पटना एयरपोर्ट से 21 फ्लाइट्स रद्द

कोरोना मरीजों को अस्पतालों में इलाज और जरूरी दवाएं न मिलने को लेकर दाखिल याचिका पर सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार को लॉकडाउन लगाना पड़ा. ऐसी स्थिति में चाहे सरकारी अस्पताल हों या वहां के डॉक्टर सभी को अपने कर्तव्य का पालन करना चाहिए और कोरोना मरीजों की सेवा करनी चाहिए.

पटना : गोदाम से बदमाशों ने लूटे लाखों के सामान, गार्ड को बनाया बंधक

हाईकोर्ट ने ये भी कहा कि बिहार के निजी अस्पतालों को भी लोगों के जीवन जीने के मौलिक अधिकार का पालन करना होगा. हाईकोर्ट ने बिहार की अन्य कोर्ट को निर्देश दिया कि कालाबजारी में जब्त किए गए ऑक्सीजन सिलेंडर को रिलीज किया जाए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें