पटना

अच्छी खबर: पटना जंक्शन होगा पेपरलेस, सबसे पहले दफ्तर ई-ऑफिस में होगा तब्दील

Smart News Team, Last updated: 12/06/2020 02:18 PM IST
  • हाजीपुर जोनल मुख्यालय और दानापुर डिविजनल मुख्यालय के बाद पटना जंक्शन दानापुर रेल मंडल का पहला स्टेशन होगा जो ई-ऑफिस में तब्दील होगा। पटना जंक्शन के बाद राजेंद्र नगर टर्मिनल, राजेन्द्र नगर कोचिंग कॉम्प्लेक्स, दानापुर कोचिंग डिपो, आरा और मोकामा समेत अन्य प्रमुख स्टेशन और फील्ड यूनिट ई ऑफिस में तब्दील किए जायेंगे।
पटना जंक्शन ऑफिस अब पूरी तरह से ई-ऑफिस होगा। (फाइल फोटो)

पटना जंक्शन ने पेपरलेस होने की दिशा में कदम बढ़ा लिया है। अब पटना जंक्शन ऑफिस से फाइलें पूरी तरह से हट जाएंगी। हाजीपुर जोनल मुख्यालय और दानापुर डिविजनल मुख्यालय के बाद पटना जंक्शन दानापुर रेल मंडल का पहला स्टेशन होगा जो ई-ऑफिस में तब्दील होगा। पटना जंक्शन के बाद राजेंद्र नगर टर्मिनल, राजेन्द्र नगर कोचिंग कॉम्प्लेक्स, दानापुर कोचिंग डिपो, आरा और मोकामा समेत अन्य प्रमुख स्टेशन और फील्ड यूनिट ई ऑफिस में तब्दील किए जायेंगे। दानापुर डीआरएम सुनील कुमार ने इस संबंध में संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं।

डीआरएम ने कहा कि दानापुर रेल मंडल के सभी फील्ड यूनिट और डिपो को पहले चरण में ई-ऑफिस में तब्दील किया जायेगा। मुख्य स्टेशनों में पटना जंक्शन के बाद दानापुर, आरा, बक्सर जैसे जगहों को ई-ऑफिस में तब्दील किया जाना है। उन्होंने बताया कि इससे रेलवे स्टेशन समेत कोचिंग डिपो और फील्ड यूनिट में काम में तेजी आ जायेगी।

संबंधित अधिकारियों का रिस्पॉन्स और एक्शन भी तेज हो सकेगा। डीआरएम ने बताया कि इससे रेलवे में कार्य दक्षता और कार्य क्षमता में भी वृद्धि होगी। समय रहते संबंधित अधिकारियों को ज़रूरी दिशा निर्देश देने के साथ-साथ कम्युनिकेशन गैप भी पूरी तरीके से खत्म होगा। साथ ही किसी भी महत्वपूर्ण काम के लिए अब डाक सिस्टम के भरोसे नहीं रहना पड़ेगा। किसी ज़रूरी काम के लिए अब एक ईमेल या ई ऑफिस प्रणाली के ज़रिए फाइल का निपटान किया जा सकेगा। इसमें समय और संसाधन की भी बचत होगी।

कोरोना के संक्रमण से हो सकेगा बचाव

डीआरएम ने बताया कि आज के माहौल में ई ऑफिस लागू होने से दानापुर मंडल में फाइल के छूने और एक जगह से दूसरे जगह ले जाने से निजात मिलेगी। सभी रेल कर्मी इससे सामाजिक दूरी का पालन करते हुए अपने-अपने काम को कर सकेंगे। कोरोना जैसे महामारी से निजात में इसका महत्व बढ़ जाएगा।

डिजिटल सिग्नेचर से होगा काम

पटना जंक्शन पर ही ऑफिस बनने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इसके लिए सभी कर्मचारियों के आईडी और उनके पासवर्ड भी बना लिए गए हैं। इस संबंध में जंक्शन पर ज़रूरी संसाधन उपलब्ध कराये जा रहे हैं। वहीं किसी भी फाइल में अगर किसी प्रकार की नोटिंग लगती है तो वह भी त्वरित रूप से संबंधित अधिकारी को मिल सकेगा। इसके लिए दानापुर मंडल की ओर से सभी रेलकर्मियों को चरणवार तरीके से ट्रेनिंग दिये जाने की योजना है। पटना जंक्शन के स्टेशन डॉक्टर नीलेश कुमार ने बताया कि दानापुर डीआरएम की पहल पर पटना जंक्शन पर कुल तीस से अधिक कंप्यूटर की खरीदी की जा रही है। वहीं परिचालन के कर्मियों की ट्रेनिंग भी हो चुकी है। उन्होंने बताया कि ई ऑफिस से पूरी तरीके से रेलवे का काम पेपरलेस हो जाएगा। इसके लिए सभी कर्मियों को डिजिटल सिग्नेचर जरूरी होगा। कहा कि ई ऑफिस में कंप्यूटर की स्क्रीन पर दो भाग होंगे। इसमें हरा और श्वेत श्याम स्क्रीन होगा। मूल फाइल ब्लैक एंड व्हाइट रंग से दर्शायी जायेगी जबकि जिस व्यक्ति को फ़ाइल जाएगी, उसको हरे रंग में दिखेगी।

अन्य खबरें