पटना: PMCH में 15 गंभीर बीमारियों की जांच बंद, आईडीएसपी की रिपोर्ट में खुलासा

Smart News Team, Last updated: 12/12/2020 11:12 AM IST
  • पटना के सबसे बड़े अस्पताल पटना चिकित्सा महाविद्यालय में 15 बीमारियों के जांच बंद कर दी गई है, जिसके कारण मरीजों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. पटना मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रो. विद्यापति चौधरी ने कहा है, कोरोना वायरस का प्रकोप जैसे ही कम होगा. सभी जांच को फिर से शुरु कर दिया जाएगा. 
पटना चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल ( फाइल फोटो )

पटना: राज्य के सबसे बड़े हॉस्पिटल पटना चिकित्सक महाविद्यालय में गंभीर बिमारियों की लगभग 15 जांच बंद चल रही है. जिसके चलते मरीजो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं. इंटीग्रेटेड डिजीज सर्विलांस प्रोग्राम की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया गया है. अस्पताल प्रशासन सभी आरोपो से इंकार कर रहा है. अस्पताल प्रशासन का कहना है कि हॉस्पिटल में मरीज की सख्या बढ़ने के कारण जांच में देरी हो जाती है और कभी-कभी मरीजों को बिना जांच के ही लोटना पड़ता है.

रिपोर्ट में कहा गया है, कि पीएमसीएच के माइक्रोबायोलॉजी लैव में टाइफाइड, मेनिनजाइटिस,  डिप्थीरिया जांच, यूरिन कल्चर, मलेरिया,  चिकनगुनिया, डेंगू, आईजीएम, चिकन पॉक्स, ब्रेन का फ्लूड, ब्लड कल्चर तथा फ्लूड जैसी आदि जांच बंद चल रही है. जिसके कारण मरीजों को मंजबूरी में प्राइवेट लैब जांच करानी पड़ रही है, जिसके कारण कभी-कभी मरीज दलालों के चक्कर में आ जाते है. हालांकि, डॉक्टरों का कहना है कि पैथोलॉजी लैब में जांच हो रही है, लेकिन मरीजों की संख्या इतनी अधिक होती है कि रोजाना काफी संख्या में लोगों को वापस भेजा जा रहा है.

कोरोना वैक्सीन तीसरे चरण का ट्रायल, पटना में 5 दिन में मिले केवल 40 वालंटियर्स

दावा किया जा रहा है कि इन माइक्रोबायोलॉजी की वायरोलॉजी लैब में कई बीमारियों की जांच हो रही है. मरीजों के द्वारा एक सवाल उठाया जा रहा है कि यदि कोरोना के लिए ही 15 जांच को बंद किया है तो लैब में कोरोना वायरस के साथ-साथ डेंगू का एनएस 1, एचआईवी, जेई, हेपिटाइटिस की जांच कैसे हो रही है. पटना मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रो. विद्यापति चौधरी ने बताया कि, कोरोना वायरस का प्रकोप होने के बाद पीएमसीएच में इसकी जांच की व्यवस्था की गई है. बीमारी के प्रकोप को देखते हुए माइक्रोबायोलॉजी लैब में अन्य प्रकार की जांच बंद कर दिया गया था लेकिन जैसे ही बीमारी का प्रकोप कम होगा, उसे  फिर से शुरू कर दिया जाएगा.

IMA की हड़ताल पर निजी डॉक्टर नहीं करेंगे काम, कोविड मरीजों की सेवाएं रहेंगी जारी

बिहार राज्य राइस मिल के उपाध्यक्ष लापता, परिजन को अनहोनी आशंका, पुलिस जांच जारी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें