पटना लॉकडाउन में बसों का अवैध परिचालन, यात्रियों से वसूला जा रहा तीन गुना किराया

Smart News Team, Last updated: 18/08/2020 06:49 PM IST
  • राजधानी पटना के मीठापुर बस स्टैंड पर यात्रियों से मनमाना किराया लेकर उन्हें गंतव्य स्थान तक पहुंचाया जा रहा है जबकि लॉकडाउन के दौरान बसों के परिचालन पर रोक है.
परिचालन पर रोक लगाने के बावजूद बसों को चलाया जा रहा है.

पटना. राजधानी पटना में लॉकडाउन के दौरान बसों के परिचालन पर रोक होने के बावजूद मीठापुर बस स्टैंड पर खुलेआम बसें लगाई जा रही हैं. उनमें जाने वाली सवारियों से भी दौगुने से तीन गुना ज्यादा किराया वसूला जा रहा है. कोरोना काल में बेबस यात्री महंगे किराए में भी सफर तय करने को मजबूर हैं.

गौरतलब है कि बाइपास से ही बसों की बुकिंग होती है और वहीं से बस खुल रही हैं. बस स्टैंड से बस पकड़ने वालों से मुजफ्फरपुर के लिए 400 रुपए, मोतिहारी 600 रुपए, भागलपुर का 700 रुपए, किशनगंज के लिए 1000 रुपए, सीतामढ़ी तक 600 रुपए और पूर्णिया के लिए 900 रुपए लिए जा रहे हैं. वहीं बाइपास पर चढ़कर बस पकड़ने पर किराया सौ रुपये कम देना पड़ता है. कोरोना काल में यात्रियों से दोगुना से तीन गुना तक भाड़ा वसूला जा रहा है.

पटना: आयकर विभाग हुआ सख्त, खर्च में तालमेल न मिलने पर होगी कार्रवाई

हैरान करने की बात है कि यह सब पुलिस की नाक के नीचे हो रहा है. बस स्टैंड के पास दो ट्रैफिक चौकी और जक्कनपुर थाना होने के बावजूद यह सब जारी है. दो दिन पहले परिवहन विभाग अवैध परिचालन पर चार बसों को जब्त किया था जिसके बाद कोई छापेमारी नहीं हुई. बसों में दिनभर बुकिंग बदस्तूर चल रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें