PMC प्रशासन का फैसला, जो कर्मचारी नहीं हैं कोरोना वैक्सिनेटेड, नहीं मिलेगी सैलरी

Smart News Team, Last updated: Fri, 23rd Jul 2021, 4:48 PM IST
  • पटना नगर निगम ने 100% कोरोना वैक्सीनेशन का लक्ष्य रखा है जिसके बावजूद केवल 70% कर्मचारियों ने अभी तक वैक्सीन लगवाई है. बाकी बचे 30% कर्मचारियों के कोरोना वैक्सीन न लगवाने पर निगम सख्त करवाही करते हुए उनका वेतन रोक देगा.
PMC प्रशासन का फैसला, जो कर्मचारी नहीं हैं कोरोना वैक्सिनेटेड, नहीं मिलेगी सैलरी

पटना. देशभर में कोरोना की तीसरी लहर का खौफ जारी है. सरकार व्यापक स्तर पर टीकाकरण अभियान चला रही है जिससे देश के लोगों को कोरोना की तीसरी लहर का सामना न करना पड़े लेकिन कुछ लोग कोरोना वैक्सीन लगवाने से पीछे हट रहे हैं. जिन पर सरकार नजर गड़ाए बैठी है. ऐसा ही कुछ पटना नगर के कर्मचारियों में देखने मिला जहां निगम ने सभी कर्मचारियों के लिए टीका लेना अनिवार्य कर दिया है फिर भी केवल 70% कर्मचारी ने कोरोना वैक्सीन लगवाई है. 20% प्रतिशत कर्मचारी अभी भी वैक्सीनेशन से बचने की कोशिश कर रहे हैं.

पटना नगर निगम के वैक्सिनेटिड कर्मचारियों के डाटा बाहर आने के बाद अब निगम सख्त कदम उठाने की तैयारी में है. नगर निगम ने 100% प्रतिशत कोरोना टीकाकरण का लक्ष्य रखा है. जिन 30% कर्मचारियों ने अभी भी अंधविश्वास के चलते कोरोना वैक्सिन नहीं लगवाई है. निगम प्रशासन की ओर से साफ कर दिया गया है कि उन्हें जल्द से जल्द कोरोना वैक्सीन लगवा लेनी चाहिए अन्यथा उनका वेतन रोक दिया जाएगा.

Prof. कामेश्वर नाथ सिंह बनें साउथ बिहार सेंट्रल यूनिवर्सिटी के नए कुलपत्ति

बिहार सरकार द्वारा पूरे राज्य में कोरोना वैक्सीनेशन का अभियान चलाया जा रहा है. सरकार ने यह लक्ष्य रखा है कि अगले छह महीने में 6 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन लग जानी चाहिए. पटना नगर निगम भी इस अभियान में सरकार के साथ खड़ा है जिसके चलते 100% कर्मचारियों का वेक्सिनेशन का लक्ष्य रखा गया है. नगर निगम के अधिकारियों का कहना है कि अगर कर्मचारी ही कोरोना वैक्सिन नहीं लगवाएंगे तो इससे आम जनता पर क्या असर पड़ेगा. जिसके चलते ही अब निगम ने वैक्सिन न लगवाने वाले कर्मचारियों का वेतन रोकने का फैसला लिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें