पटना

RJD के तेजस्वी को दोहरा झटका, पहले 5 MLC गए फिर रघुवंश सिंह ने भी दिया इस्तीफा

Smart News Team, Last updated: 23/06/2020 03:20 PM IST
  • एक तरफ राष्ट्रीय जनता दल के पांच विधान परिषद सदस्य ने पार्टी का दामन छोड़ दिया और वे सभी जदयू में शामिल हो गए। वहीं दूसरी ओर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।
रघुवंश प्रसाद सिंह ने राजद से दिया इस्तीफा। (फाइल फोटो)

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अब सियासी उठा-पटक शुरू हो गया। आज यानी मंगलवाल का दिन लालू प्रसाद यादव की पार्टी राजद के लिए अमंगल साबित हुआ, क्योंकि फिलहाल तेजस्वी के नेतृत्व वाली पार्टी राजद को एक ही दिन में दो बड़े झटके लगे। एक तरफ राष्ट्रीय जनता दल के पांच विधान परिषद सदस्य ने पार्टी का दामन छोड़ दिया और वे सभी जदयू में शामिल हो गए। वहीं दूसरी ओर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

दरअसल, पटना में राजद के पांच एमएलसी के पाला बदलने के कुछ ही देर बाद राजद को एक और बड़ा झटका लग गया। राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। माना जा रहा है कि रघुवंश प्रसाद सिंह रामा सिंह को राजद में शामिल किए जाने को लेकर नाराज हैं।

गौरतलब है कि वैशाली के पूर्व सासंद रघुवंश प्रसाद सिंह अभी कोरोना पॉजिटिव हैं और उनका इलाज पटना के एम्स में चल रहा है। बीते दिनों ही सांस में तकलीफ की समस्या के बाद पटना अस्पताल में भर्ती हुए थे, जहां कोरोना जांच में वह संक्रमित पाए गए थे।

क्यों हैं रघुवंश सिंह नाराज

जानकारों की मानें तो दो दिन पहले ही रामा सिंह और तेजस्वी यादव के बीच मुलाकात हुई थी और उसके बाद ही रामा सिंह के राजद में शामिल होने की अटकलें हैं। क्योंकि रामा सिंह एक समय में राजद सुप्रीमो लालू यादव और रघुवंश प्रसाद सिंह के कट्टर विरोधी रहे हैं। यही वजह है कि रघुवंश प्रसाद ने अपना इस्तीफा सौंपा है।

ये हैं वो पांच एमएलसी

राजद के पांच विधान पार्षद दिलीप राय, राधा चरण सेठ, संजय प्रसाद ,कमरे आलम और रणविजय सिंह जेडीयू में शामिल हो गए हैं। जदयू की सचेतक रीना यादव के पत्र के आलोक में विधान परिषद ने राजद से आए जदयू के सभी सदस्यों को मान्यता दे दी।

विधान परिषद की चयन प्रक्रिया अंतिम दौर में

बिहार विधान परिषद की नौ सीटों के लिए जदयू, भाजपा, राजद और कांग्रेस में उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया अंतिम दौर में है। जदयू ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार को इसके लिए अधिकृत कर दिया है। वहीं, राजद में तीन सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम लगभग तय हो गए हैं। इसके अलावा, भाजपा ने संभावित उम्मीदवारों की सूची केंद्र को भेज दी है। उधर, कांग्रेस में अनेक दावेदारों के बीच एक उम्मीदवार का चयन पार्टी नेतृत्व के लिए चुनौती है।

अन्य खबरें