कोरोना के कहर के बीच पेट की भूख मिटाने फिर पटना से उड़ने लगे प्रवासी मजदूर

Smart News Team, Last updated: 06/08/2020 06:39 PM IST
कोरोना का कहर अभी थमा भी नहीं है लेकिन पटना से मजदूर रोजगार की तरफ लौटने लगे हैं. लॉकडाउन में घर लौटे मजदूर एयरपोर्ट पर फ्लाइट का इंतजार कर रहे हैं.
लॉकडाउन में घर लौटे मजदूर रोजगार पर वापस जाने लगे हैं.

कोरोना का कहर अभी थमा भी नहीं है लेकिन घर लौटे मजदूर पेट की भूख मिटाने के लिए वापस जाने लगे हैं. पटना एयरपोर्ट के गेट के बाहर फ्लाइट पकड़ने का इंतजार करते ये मजदूर अपने काम पर लौट रहे हैं. पटना से यह मजदूर पहले दिल्ली फिर कश्मीर से लेह-लद्दाख जाएंगे. कोरोना संक्रमण के कारण देशभर में लॉकडाउन किया गया जिससे कई मजदूरों का काम छिन गया और वह खाने-पीने की कमी से बचने के लिए अपने गांव-घर को लौटे थे.

अनलॉक के दौरान जब शहरों में काम शुरू हुआ तो काम करने के लिए लोग नहीं थे जिससे कई बड़ी कंपनियों में प्रोडक्शन का काम शुरू नहीं हो पाया. इस परेशानी से निपटने के लिए कई कंपनियों ने मजदूरों को गाड़ियों और हवाई जहाज से वापस काम पर बुलाया है. 

बंगाल लॉकडाउन के चलते पटना -हावड़ा स्पेशल समेत कई ट्रेन कैंसिल, पूरा शेड्यूल

लॉकडाउन के कारण मजदूरों को घर लौटने के लिए जब बस या ट्रेन नहीं मिली तो बेबस लोग अपने परिवार के साथ साइकिल या पैदल ही अपने गांवों की तरफ चल दिए थे. जिसके कारण कई लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी थी.  

कोरोना काल में बर्बाद हो गया पटना का होटल बिजनेस, बंद होने की कगार पर पहुंंचे

समस्या को देखते हुए बाद में सरकार ने मजदूरों के लिए ट्रेन की व्यवस्था की थी. कोरोना महामारी में परेशानी और तकलीफ झेलने के बाद अपना और परिवार का पेट पालने के लिए मजदूरों ने फिर पलायन करना शुरू कर दिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें