पालीगंज: सर्दी, खांसी-बुखार की दवा लेकर पहुंचा था दूल्हा, ऐसे हुआ कोरोना विस्फोट

Smart News Team, Last updated: 07/07/2020 09:49 AM IST
  • पालीगंज शादी समारोह में दूल्हे की मौत विवाद के दूसरे दिन ही हो गई थी, मगर यह मौत कैसे हुई थी, इस पर से अब पर्दा उठ गया है।
पालीगंज शादी समारोह में दूल्हे की मौत से उठ गया पर्दा।

पटना के पालीगंज में जिस कोरोना विस्फोट से हड़कंप मचा हुआ है, उसे लेकर एक और बड़ा खुलासा हुआ है। पालीगंज शादी समारोह में दूल्हे की मौत विवाद के दूसरे दिन ही हो गई थी, मगर यह मौत कैसे हुई थी, इस पर से अब पर्दा उठ गया है। रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पालीगंज शादी के दूल्हे की मौत लापरवाही की वजह से हुई थी। बता दें कि पालीगंज शादी समारोह में भाग लेने वाले करीब 111 लोग कोरोना की चपेट में है। हालांकि, इनमें से कुछ रिकवर भी हो गए हैं।

पालीगंज शादी मामले जांच करने वाले अधिकारियों ने अपनी अंतिम जांच रिपोर्ट पटना के डीएम को सौंप दी है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि दूल्हे की खुद की लापरवाही के कारण उसकी जान चली गई। दूल्हे की तबीयत काफी दिनों से खराब थी। तबीयत खराब होने के 22 दिन बाद भी दूल्हे ने कोरोना वायरस संक्रमण की जांच नहीं कराई थी, जो उसकी जान पर भारी पड़ गई। दूल्हा शादी के दिन सर्दी खांसी व बुखार की दवा लेकर गया था मगर कोई असर नहीं रहा।

पालीगंज कोरोना विस्फोट पर चला पुलिस का डंडा, दूल्हे के पिता के खिलाफ FIR दर्ज

जांच रिपोर्ट की मानें तो दूल्हा सॉफ्टवेयर इंजीनियर था और 23 मई को ही उसकी तबीयत खराब हो गई थी। उसे उसी वक्त से सर्दी, खांसी के साथ-साथ बुखार भी था। हालांकि, उसने अपनी खराब तबीयत को हल्के में लिया। स्थानीय तौर पर ही इलाज करा कर मौसमी बीमारी समझ दवा खाता रहा। दूल्हा 23 मई को ही गुरुग्राम से पालीगंज आया था।

जब वह पालीगंज में था, तब 8 जून को अचानक उसकी तबीयत और ज्यादा खराब हो गई। उसके परिवार वालों ने स्थानीय डॉक्टर से दिखाया। यहां पर डॉक्टर ने उसे दवा दी और उसे कोरोना की जांच कराने की भी सलाह दीष मगर दूल्हा एक बार फिर से दवा खाकर रह गया और मौसमी बीमारी समझ कोरोना की जांच नहीं कराया।

जांच रिपोर्ट में यह भी बात सामने आई है कि दूल्हे को उसके परिवार वालों ने भी कोरोना की जांच कराने की सलाह दी, मगर वह नहीं माना। उसके मन में ऐसी बातें चल रही थीं कि शादी के पहले अगर वह कोरोना की जांच कराता है और रिपोर्ट पॉजिटिव आता है तो फिर उसकी शादी में खलल पड़ सकता है।बस यही लापरवाही उसके जान पर भारी पड़ गई।

दूल्हे की मौत, 111 कोरोना मरीज, 8 मोहल्ला सील..शादी में कैसे आए 50 से अधिक? जांच

अधिकारियों की 3 सदस्यीय टीम ने जांच रिपोर्ट में कहा है कि अगर दूल्हे की कोरोना जांच हो जाती तो शायद इतने बड़े पैमाने पर लोग संक्रमित होने से बच जाते। गौरतलब है कि इस शादी से जुड़े करीब 111 लोग कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए हैं और शादी में नियम के उल्लंघन को लेकर दूल्हे के पिता पर केस दर्ज किया गया है। दूल्हे के पिता भी कोरोना से संक्रमित हैं और उनका बिहटा स्थित कोविड-19 केयर सेंटर में इलाज चल रहा है।

अन्य खबरें