सावन का पहला सोमवार: प्रशासन के आदेश के बावजूद पटना की मंदिरों में पूजा-जलाभिषेक

Smart News Team, Last updated: 06/07/2020 02:40 PM IST
  • राजधानी पटना में सावन के पहले सोमवार शिव मंदिरों में भोलेनाथ के भक्तों जमावड़ा रहा। श्रद्धालुओं ने पवित्र शिवलिंग पर जल अर्पित भी किया जबकि जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस के मद्देनजर पूजा व जलाभिषेक पर रोक लगाई थी।
सावन के पहले सोमवार शिव मंदिरों में जुटी भक्तों की भीड़

पटना. सोमवार 6 जुलाई से भोलेनाथ का पवित्र माह सावन शुरू हो गया। सावन के पहले सोमवार को राजधानी पटना के कई शिव मंदिरों में पूजा और जलाभिषेक करने वाले भक्तों का तांता लगा रहा। जबकि इस साल कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने आदेश दिया था कि किसी भी शिव मंदिर में जलाभिषेक और पूजा-अर्चना नहीं आयोजित की जाएगी। लेकिन प्रशासन ने मंदिरों को खोले रखने का आदेश जरूर दिया था। 

प्रशासन के आदेश के बाद भी काफी संख्या में लोग मंदिरों में पवित्र शिवलिंग पर जल अर्पित किया। कई मंदिरों में कोरोना का ख्याल रखा गया तो कई मंदिरों में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां भी उड़ाई गईं। काफी संख्या में मंदिरों के प्रवेश द्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई।

हालांकि, काफी संख्या में राजधानी की शिव मंदिरों पर ताला भी लटका मिला जहां से भक्त मायूस होकर घर लौट गए। 

मंदिर पर लगा ताला।

मालूम हो कि भगवान भोलेनाथ का प्रिय महीना सावन सोमवार 6 जुलाई से शुरू हो गया है। लंबे अरसे के बाद इस बार पांच सोमवारी पड़ रही हैं। खास बात है कि इस बार पवित्र माह की शुरुआत सोमवार जो शुभ भी माना जा रहा है। सोमवार के माह में शिव जी के पूजन का विशेष महत्व बताया जाता है। इस दिन भक्त शिव पूजा के साथ पवित्र शिवलिंग पर जलाभिषेक भी करती हैं।

अन्य खबरें