मलेशिया से ट्रेनिंग लेकर भारत में की साइबर धांधली, लखपति चोर अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 28/07/2020 06:35 PM IST
  • साइबर अपराध और हैकिंग के आरोप में कुणाल शर्मा और उसके साथियों से पटना पुलिस ने गिरफ्तारी करके पूछताछ की है. इस मामले में कई विदेशी हैकर्स भी जुड़े हैं. 
cyber crime

पटना में साइबर अपराधी कुणाल शर्मा को गिरफ्तार किया गया. कुणाल शर्मा ने साइबर दुनिया में अपना नाम बनाने के लिए लाखों की चोरी की और उसे बिटक्वाइन में बदल दिया. पटना पुलिस की विशेष टीम उससे पूछताछ कर रही है. कुणाल पर लाखों की चोरी का आरोप है. बताया गया कि उसने साइबर अपराध करने का तरीका मलेशिया में सीखा था. 

अंतराष्ट्रीय हैकर्स गैंग के सरगना कुणाल और उसके दो साथी रौबिन और सुमन को पटना एयरपोर्ट पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार किया था. कुणाल और गैंग ने हाल ही में महाराष्ट्र के एक कारोबारी के पेटीएम अकाउंट से पैसे उड़ाए थे. कारोबारी ने ही इस गैंग का पता लगाया. सूत्रों के अनुसार गैंग का सरगना कुणाल किसी की हत्या करने पटना आया था. इसी के साथ इस हैकर्स गैंग के मास्टरमाइंड की बंग्लादेश में रहने की बात भी सामने आई है.

बिहार में पटना समेत सात शहर के रेहड़ी-फेरीवालों को मिलेगा लोन

पुलिस ने बताया कि उसने अलग-अलग सॉफ्टवेयर की मदद से साइबर अपराध करने का तरीका सीखने के लिए एक साल की ट्रेनिंग ली है. भारत में आकर कुणाल ने एक गैंग बनाया और अपने साथियों के साथ मिलकर चोरियां की. मामले में पटना पुलिस अभी पूछताछ कर रही है लेकिन पुलिस की टीम सबूत जुटाने के लिए राजस्थान और मुंबई भी जा सकती है.

पटना जंक्शन पर 15 दिनों से तैयार खड़ा कोविड केयर कोच, ये सुविधाएं उपलब्ध

कुणाल ने बताया कि वो दूसरों के इ-वॉलेट जैसे पेटीएम से रकम उड़ाता था. उसके बाद उन रूपयों से ऑनलाइन गिफ्ट कूपन खरीदता था. गिफ्ट कूपन से रकम निकालकर अपने साथियों के अकाउंट में ट्रांसफर करता था और फिर इन्हें बिट क्वाइन में बदला जाता था. वर्चुअल मनी बिट क्वाइन को इलेक्ट्रानिकली ही स्टोर किया जा सकता है. इससे पुलिस को रकम के सबूत मिलना मुश्किल था. इसमें कई विदेशी हैकर्स के शामिल होने की बात सामने आई है.

अन्य खबरें