कोरोना काल में बदल जाएंगे पटना के पुलिस थाने, जानिए क्या है नया मॉडल

Smart News Team, Last updated: 28/06/2020 04:09 PM IST
कोरोना वायरस से बचाव के लिए अब पटना के पुलिस थानों में अपराधियों से लेकर फरयादियों तक की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी।
जवानों को कोरोना से बचाने का पटना पुलिस का नया उपाय

पटना. कोरोना वायरस से बचाव के लिए अब राजधानी के थानों में अपराधी हो या फरियादी सबकी थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। अगर कोई पीड़ित आवेदन दे रहा है तो पहले उसे अपने हाथों को सैनेटाइज करना होगा। कोई भी पुलिसकर्मी आवेदन को सीधा नहीं पकड़ेगा बल्कि आवेदन को थानों में लगे कीटनाशक बॉक्स में डालना होगा। कोविड-19 के खिलाफ पटना पुलिस के इस मॉडल की शुरुआत सबसे पहले गांधी मैदान थाने से होगी। थाने में बॉक्स लगाया जा रहा है।

एसएसपी पटना उपेंद्र शर्मा ने इस संबंध में कहा कि ड्यूटी के साथ जवानों की सुरक्षा जरूरी है। एहितयात के तौर पर सभी थानों में जरूरी इंतजाम किए जा रहे हैं। थानों में यूवी कीटनाशक बॉक्स, सैनेटाइज व थर्मल स्क्रैनिंग इसी कड़ी का हिस्सा है।

गांधी मैदान थाना प्रभारी सुनील कुमार सिंह ने इस संबंध में कहा कि कोरोना से बचने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है। थाने की हेल्प डेस्क की दीवार के आगे कवर के लिए शीशा लगाया गया है जिससे जवान किसी से बात करते हुए संक्रमण के खतरे से दूर रहें।

थाना प्रभारी ने बताया कि गेट पर ही थर्मल स्क्रीनिंग व सैनेटाइज की व्यवस्था है। ऑटो मैटिक मशीन सैनेटाइज के लिए लगाई गई है। वहीं सभी पुलिसकर्मी फेस शील्ड व मास्क पहनकर काम कर रहे हैं। सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया जा रहा है। साथ ही थाने में प्रतिदिन कीटनाशक का छिड़काव कर सैनेटाइज किया जाता है।

जानिए कैसे काम करता है ऑटोमैटिक कीटनाशक बॉक्स

गांधी मैदान थाना प्रभारी सुनील कुमार सिंह के अनुसार, ऑटोमैटिक यूवी कीटनाशक बॉक्स डाले गए आवेदनों में कोरोना संक्रमण को खत्म करने में कारगर होगा। हर लिखित शिकायती पत्र को 15 मिनट के लिए बॉक्स में डाल जाएगा। बाक्स में लगे सैनेटाइज सिस्टम से आवेदन पत्र में लगे कीटाणु नष्ट हो जाएंगे। जिसके बाद पत्र को बाहर निकाला जाएगा।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें