12 साल की लड़की से हो रही थी नाबालिग लड़के की शादी, पुलिस ने मारी एंट्री और..

Smart News Team, Last updated: Sun, 30th May 2021, 12:11 AM IST
  • गांव के रीति रिवाजों के मुताबिक घर से बारात को विदाई देने के लिए पारंपरिक गीत गाये जा रहे थे. तभी मौके पर पहुंचे एसडीओ, पुलिस और बचपन बचाओ आंदोलन की टीम ने बारात को रोक दिया. शादी वाले घर में पुलिस को देखते ही अफरा तफरी मच गई और हंगामा होने लगा.
शादी से बचाया गया नाबालिग लड़का

पटना। बिहार में कोरोना संकट के दौर में भी आए दिन कोई न कोई घटना या मामला सामने आता ही रहता है. बिहार में अपराधिक घटनाओं का सिलसिला तो कभी रुकता ही भी है. लॉकडाउन में जरा सी छूट मिलने पर ही अपराधियों और बदमाशों की हरकते फिर शुरू हो जाती हैं. इस बार पटना के एक क्षेत्र से ऐसा मामला सामने आया है जो सामाजिक और कानूनी तौर पर एक बड़ा अपराध है.

बिहार के पटना में एक संवाददाता, पुलिस प्रशासन और एक एनजीओ ने सतर्कता दिखाते हुए नाबालिग लड़के और लड़की का बाल विवाह होने से पहले ही रोक दिया. नाबालिगों की हो रही शादी में लड़का खगौल के गोरेगांवा का निवासी है वहीं लड़की नौबतपुर क्षेत्र की रहने वाली है.

भगवान कुबेर की आम मूर्ति समझ हो रही थी पूजा, जांच हुई तो सबकी खुल गई आंख

शनिवार की शाम को बारात निकलने के लिए तैयार थी. गांव के रीति रिवाजों के मुताबिक घर से बारात को विदाई देने के लिए पारंपरिक गीत गाये जा रहे थे. तभी मौके पर पहुंचे एसडीओ, पुलिस और बचपन बचाओ आंदोलन की टीम ने बारात को रोक दिया. शादी वाले घर में पुलिस को देखते ही अफरा तफरी मच गई और हंगामा होने लगा.

HAM अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने 2 जून को बुलाई बैठक, हो सकते हैं बड़े फैसले

पुलिस ने एनजीओ की टीम के साथ मिलकर बारात को निकलने से पहले रोक कर दूल्हा बने लड़के को रेस्क्यू कर लिया. रेस्क्यू टीम में शामिल शाहपुर थानाध्यक्ष ने मामले के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि दुल्हा यानी लड़के की उम्र 17 साल है. अभी फिलहाल लड़के को रेस्क्यू कर के थाने में रखा गया है. वहीं दुल्हन यानी लड़की की उम्र महज 12 साल है. पुलिस ने शादी कराने वाले अगुआ हिरासत में लेकर, दोनों नाबालिगों के परिवार वालों पर बाल विवाह करने की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज जांच शुरू कर दी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें