बाल वैज्ञानिकों ने बनाया सैनिटाइजर बैंड, स्कूली बच्चों को होगा फायदेमंद

Smart News Team, Last updated: Mon, 20th Jul 2020, 5:44 PM IST
  • कोरोना वायरस से बचाव के लिए अब दो बाल वैज्ञानिकों ने सैनिटाइजर बैंड बनाया है जिसे आसानी से हाथ में पहनकर इस्तेमाल किया जा सकता है।
अब मिलेगा हैंड सैनिटाइजर बैंड

पटना. राजधानी पटना और यूपी के प्रयागराज के दो बाल वैज्ञानिकों ने मिलकर एक सैनिटाइजर बैंड बनाया है जो हाथों में अन्य बैंडों की तरह पहना जाएगा. हालांकि, खास बात होगी कि बैंड से आप सैनिटाइजर अपने इस्तेमाल के लिए समय-समय पर निकाल सकेंगे. अगर सैनिटाइजर खत्म हो जाता है तो उसे रीफिल भी आराम से कर सकेंगे.

बैंड को बनाने वाले विनीत और अनुज की मानें तो इसे दर्जनों बार उपयोग में लाया जा सकता है. स्कूल के छात्रों के लिए भी यह बैंड अच्छा रहेगा क्योंकि वे स्कूल के दौरान हर समय अपना बैग साथ नहीं सकते हैं या सैनेटाइजर की शीशी को जेब में नहीं रख सकते हैं.

पटना के रहने वाले विनीत कुमार ने बताया कि सैनिटाइजर बैंड को बनाने में ज्यादा पैसे का खर्च नहीं है. महज 20 रुपये में एक बैंड बनकर तैयार हो जाता है. 

जल्द बंद हो जाएगी रेलवे की 165 साल पुरानी ये सुविधा, विरोध में हो रहा प्रदर्शन

विनीत का कहना है कि हर वर्ग के लोग इस बैंड का इस्तेमाल कर सकते हैं. विनीत ने आगे कहा कि यह बैंड टिकाऊ भी है. इस्तेमाल करने के बाद दुबारा इसमें सैनिटाइजर भर सकते हैं.

कोरोना काल: बच्चों की फीस वसूलने को स्कूलों का प्लान B, जानकर दंग रह जाएंगे

विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के मुताबिक, स्कूल स्तर पर बैंड का इस्तेमाल किया जाएगा. स्कूल खुलेगा तो बच्चों के बीच इसे बांटा जाएगा. विनीत कुमार और अनुज श्रीवास्तव ने अपने शहर के कुछ बच्चों के बीच इसे बांटा भी है जहां से रिस्पांस अच्छा है. उन सभी चीजों का बैंड को बनाने में ख्याल रखा गया है जो सैनिटाइजर बनाने में इस्तेमाल होता है जिससे इस्तेमाल करने पर बच्चों की सेहत पर दुप्प्रभाव भी नहीं होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें