पटना: बालू से लदे ट्रैक्टर की चपेट में आए ऑन ड्यूटी सिपाही की मौत, ड्राइवर फरार

Smart News Team, Last updated: 27/08/2020 08:40 AM IST
  • बुधवार की देर रात पटना में एक भीषण हादसा हो गया जिसमें आर ब्लॉक- दीघा पथ स्थित पेपर बोर्ड के पास बालू से लदे के एक ट्रैक्टर ने एसके पुरी थाना के बाइक सवार सिपाही को कुचल दिया. हादसे में सिपाही की मौत हो गई है.
मृतक सिपाही सुजीत कुमार. (फाइल फोटो)

पटना. बुधवार को देर रात ड्यूटी पर निकले बाइक सवार सिपाही को एक बालू लदे तेज रफ्तार के ट्रक ने रौंदा डाला. घटना आर ब्लॉक- दीघा पथ स्थित पेपर बोर्ड के पास की है. हादसे में गंभीर रूप से घायल हुए सिपाही की मौत हो गई. हादसे में सिपाही की बाइक भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है. सिपाही एसकेपुरी थाना के क्विक मोबाइल में तैनात था.

हादसे के बाद चालक ट्रैक्टर को छोड़कर घटनास्थल से भाग गया. लोगों के द्वारा सड़क दुर्घटना की पुलिस को दी गई. इसके बाद मौके पर पहुंची दीघा पुलिस ने ट्रैक्टर और बाइक को जब्त कर लिया है. पुलिस द्वारा ट्रैक्टर चालक की तलाश जारी है.

पटना एम्स- NMCH के बाद PMCH में प्लाज्मा थेरेपी से शुरू हुआ कोविड मरीजों का इलाज

जानकारी के अनुसार मृतक सिपाही सुजीत कुमार मुंगेर के मुफ़स्सिल थाना क्षेत्र स्थित बांका गांव का रहने वाला था. सुजीत पिछले ढाई साल से एसकेपुरी थाने में तैनात था. वह फिलहाल राजीव नगर में रह रहा था. बुधवार की शाम सवा सात बजे वह बाइक से ड्यूटी के लिए एसकेपुरी थाने जा रहा था. आर ब्लॉक- दीघा पथ स्थित पेपर बोर्ड के पास पहुंचने पर सामने से आ रहे एक ट्रैक्टर ने उन्हें रौंद दिया.

पटना के अगमकुआं में 8 साल की बच्ची से रेप, आरोपी की मॉब लिंचिंग में मौत

घटना के बाद लोगों की सूचना पर दीघा थाना प्रभारी मनोज कुमार सिंह मौके पर पहुंचे और घायल सिपाही को एक निजी अस्पताल में पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. थाना प्रभारी ने बताया कि सिपाही के परिजनों को घटना की सूचना दे दी गई है.

पटना के अगमकुआं में 8 साल की बच्ची से रेप, आरोपी की मॉब लिंचिंग में मौत

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ट्रैक्टर की रफ्तार काफी तेज थी. सिपाही सुजीत कुमार सादे लिबास में थे. उन्होंने हेलमेट भी नहीं पहना हुआ था. इसकी वजह से ट्रैक्टर की चपेट में आने से उनका सिर फूट गया. यहां तक कि उनकी एक आंख तक बाहर निकल आई थी. लोगों का कहना है कि यदि सिपाही ने हेलमेट पहना होता तो शायद उनकी जान बच सकती थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें