पटना: गर्भवती पत्नी की हत्या में शक, लिंग परीक्षण के बाद मौत के घाट उतरवाया

Smart News Team, Last updated: 12/07/2020 12:53 PM IST
  • आरोपी पति शंभू रजक ने अपनी साली से शादी की चाहत और पत्नी से बेटा न होने की वजह से उसकी हत्या कर दी थी।
गर्भवती पत्नी की हत्या में शक की सुई, लिंग परीक्षण के बाद मौत के घाट उतरवाया

पटना में जिस हत्याकांड से राजधानी के लोह सहम गए, उसे लेकर अब शक की सुई किसी और चीज की ओर इशार कर रही है। गर्भवती पत्नी रूबी देवी हत्याकांड में पुलिस को शक है कि पति लॉन्ड्री संचालक शंभू रजक ने पहले उसका लिंग परीक्षण कराया, जब गर्भ में लड़की होने की बात पता चला तो उसने पत्नी की हत्या करा दी। बता दें कि आरोपी पति शंभू रजक ने अपनी साली से शादी की चाहत और पत्नी से बेटा न होने की वजह से उसकी हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड में गोपालपुर पुलिस ने शंभू रजक समेत दोनों कांट्रैक्ट किलर ऋषि कुमार और नवीन कुमार को जेल भेज दिया। थाने में परिवार का कोई भी सदस्य शंभू से मिलने नहीं पहुंचा।

पटना में साली से इश्क कर बैठे जीजा ने अपनी पत्नी को दी ऐसी खौफनाक मौत…

एसपी सिटी पूर्वी जितेंद्र कुमार ने कहा कि इस पहलू पर भी छानबीन की जा रही है कि रूबी के पेट में पल रहा बच्चा लड़का है या लड़की, इसे लेकर शंभू ने जांच कराई थी या नहीं। शक है कि शंभू को इसकी जानकारी हो गई थी। यह पता लगाना और लिंग परीक्षण कर उसकी जानकारी देना गैरकानूनी है। अगर किसी भी अस्पताल या जांच केंद्र ने इसकी जानकारी दी होगी तो  उसका पता लगाकर कार्रवाई की जाएगी। इस पूरे घटनाक्रम में सही समय पर पुलिस ने शंभू से पूछताछ कर सच उगलवा लिया। अगर जांच में थोड़ी भी देर हो जाती तो शंभू पत्नी के अंतिम संस्कार की तैयारी में लग जाता और ऐसे में मानवीय आधार पर पुलिस उससे पूछताछ नहीं करती। इसका असर छानबीन पर पड़ता, जिसका फायदा अपराधी उठा सकते थे।

दरअसल, परसा के झाईंचक निवासी शंभू रजक गुरुवार को पत्नी रूबी देवी (32), बेटी पीहू और परी के साथ लोहानीपुर स्थित ससुराल से वापस लौट रहा था। साजिश के तहत उसने सुपारी किलर से अपनी की हत्या कर दी तथा मामले को रोडरेज साबित करने की कोशिश की। मगर पुलिस की तफ्तीश में उसकी सच्चाई सामने आ गई और शंभू समेत दोनों किलर पकड़े गए।

अन्य खबरें