पटना साहिब में इस शख्स ने दान किए 1300 हीरे, 5 फीट सोने का हार और सोने का पंलग

Somya Sri, Last updated: Sun, 2nd Jan 2022, 11:45 AM IST
  • पटना साहिब गुरुद्वारा में जालंधर के करतारपुर निवासी गुरविंदर सिंह सामरा ने 1300 हीरे, 5 फीट सोने का चेन और सोने का पलंग दान किया है. इस संबंध में उन्होंने कहा कि यह सब गुरु जी महाराज की कृपा से संभव हुआ है. सब उन्हीं का दिया है.
पटना साहिब में इस शख्स ने दान किए 1300 हीरे, 5 फीट सोने का हार और सोने का पंलग (फाइल फोटो)

पटना: विश्व के दूसरे सबसे बड़े तख्त पटना साहिब गुरुद्वारा में जालंधर से आये एक शख्स ने 1300 हीरे, 5 फीट सोने हीरे जवाहरात का चेन और सोने का पलंग दान किया है. शख्स जालंधर के करतारपुर निवासी डॉ गुरविंदर सिंह सामरा हैं. पटना साहिब गुरुद्वारा में 7 से 9 जनवरी तक देशमुख गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह का 355 वां प्रकाशपर्व मनाया जाएगा. वहीं 4 से 6 जनवरी तक राजगीर में श्री तेज बहादुर सिंह का 400 वां प्रकाशपर्व मनाया जाएगा. इन दोनों ही प्रकाशपर्व से पहले जालंधर के करतारपुर निवासी गुरविंदर सिंह पटना साहिब पहुंच कर हीरे जवाहरात दान किये हैं.

जानकारी के मुताबिक शख्स ने इसके साथ ही सोने की कृपाण, सोने की कारीगरी वाली रजाई, श्री साहब, वस्त्र, रूमाला साहिब, चंदोय समेत करोड़ों रुपए का तोहफा भेंट किया. इस संबंध में उन्होंने कहा कि यह सब गुरु जी महाराज की कृपा से संभव हुआ है. सब उन्हीं का दिया है.

नए साल में बिहार को बड़ी सौगात, 232 स्वास्थ्य उपकेंद्र बनेंगे हेल्थ वेलनेस केयर सेंटर

वहीं महासचिव ने कहा कि, " जालंधर के श्री गुरु तेग बहादुर हास्पिटल के संचालक डा. गुरविंदर सिंह सामरा ने पंद्रह दिनों पहले ही करोड़ों रुपए के सोने का पलंग दशमेश गुरु के चरणों में अर्पित किया है. पिछले साल इन्होंने 1.29 करोड़ का करीब ढाई किलो सोने से बना कलगी दिया था."

जत्थेदार ज्ञानी रणजीत सिंह गौहर-ए-मसकीन ने कहा कि, "शाही हार में 1300 हीरे, नीलम, पन्ना, पुखराज के साथ नौ रत्न लगे हैं. वहीं सोने से बनी कृपाण साढ़े तीन फीट लंबी है." उन्होंने कहा कि, "यह पहला मौका है जब दरबार साहिब अमृतसर में सेवा करने वाले डा. सामरा को वहां का सम्मान पटना साहिब में दिया गया है." बता दें कि इस दौरान डा. गुरविंदर सिंह सामरा और उनके पुत्र हरमनबीर सिंह को सरोपा देकर सम्मानित किया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें