पटना: IIT की तैयारी के लिए कोटा गए छात्र ने दी जान, सुसाइड नोट में वजह डिप्रेशन

Smart News Team, Last updated: 16/10/2020 11:56 AM IST
  • कोटा से आईआईटी की तैयारी कर रहे छात्र ने पढ़ाई के कारण डिप्रेशन में आकर आत्महत्या कर ली, वह पढ़ाई को लेकर इतना परेशान था कि सुसाइड नोट के जरिए जान देने की वजह बताई.
मृतक छात्र सार्थक

पटना: राजधानी के रहने वाले सार्थक कुमार सिंह ने कोटा में आईआईटी की पढ़ाई करते वक्त डिप्रेशन की वजह से आत्महत्या कर ली. सार्थक कोटा में जवाहर नगर थाना क्षेत्र के पास स्थित तलवंडी में रह रहे थे. गुरुवार की सुबह लगभग 10 बजे के पास घर के मकान मालिक ने सार्थक को अपने बंद कमरे में फंदे से लटके हुए देखा. तुरंत पुलिस को सूचना देने पर मौके पर पहुंची जवाहर नगर थाने की पुलिस के प्रभारी रामकिशन ने शव को फंदे से उतारकर कब्जे में कर लिया. कमरे की जांच से एक सुसाइड नोट मिला है.

जानकारी के मुताबिक मृतक छात्र सार्थक पटना कोर्ट के वकील दीनानाथ सिंह का इकलौता पुत्र था जिसकी उम्र 19 वर्ष थी. छात्र का परिवार मूल रूप से पटना के गौरीचक थाने के पास स्थित बहुआरा गांव के रहने वाले हैं. फिलहाल पटना के गुलजारबाग में एक शिव मंदिर के पास रह रहे हैं. 

पटना: 25 साल के युवक ने डिप्रेशन में आकर लगाई फांसी, सुसाइड नोट नहीं बरामद

इस मामले की जांच कर रहे थाना प्रभारी ने बताया कि छात्र के कमरे में से एक सुसाइड नोट उसके रजिस्टर में मिला है, जिसमें छात्र ने पढ़ाई के दबाव के कारण अवसादग्रस्त होने को आत्महत्या का कारण बताया. इसके साथ ही सुसाइड नोट के बारीकी से जांच की जाएगी. आत्महत्या की सूचना परिवार वालों तक पहुंचने के बाद छात्र के परिजन गुरुवार की सुबह शव लाने के लिए कोटा रवाना हो गए. उम्मीद है कि शुक्रवार शाम तक शव पटना पहुंच जाएगा.

बीएमपी सुसाइड मर्डर: बिहार में पुलिस के 8 जवान दे चुके हैं इस साल जान

कोटा में छात्रों की आत्महत्या करने के नए केस बहुत बार आते रहते हैं. जब छात्र घरवालों से दूर दूसरे शहर में किसी अवसाद के बीच में घिर जाता है तो सुसाइड जैसे नतीजे देखने को मिलते है. इससे पहले भी कई छात्रों ने पढ़ाई के तनाव के कारण आत्महत्या की है. छात्र की खुदकुशी के बाद जहां एक तरफ घर में कोहराम मचा हुआ है वहीं दूसरी तरफ गांव के लोग इस घटना को लेकर हैरान हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें