पटना: पैसे-पैसे को मोहताज विधवा दिव्यांग शिक्षिका ने की नदी में कूदकर खुदकुशी

Smart News Team, Last updated: 06/07/2020 04:39 PM IST
  • पटना में आर्थिक तंगी से जूझ रही एक विधवा दिव्यांग शिक्षिका ने नदी में कूदकर खुदकुशी कर ली।
कोरोना काल में पैसे के संकट से जूझ रही थी दिव्यांग शिक्षिका

पटना. राजधानी पटना से एक बेहद दुखद मामला सामने आया जहां एक दिव्यांग शिक्षिका ने नदी में कूदकर अपनी जान दे दी। मृतका लॉकडाउन की वजह से आर्थिक संकट में जूझ रही थी। पिछले कई महीनों से उसे स्कूल से वेतन भी नहीं मिल रहा था। दो बच्चों की परवरिश उसके सिर थी जिसकी वजह से तनाव में आकर उसने आत्महत्या कर ली। नदी से शिक्षिका का शव अभी तक बरामद नहीं हुआ है। फिलहाल पुलिस केस दर्ज कर उसका शव तलाश रही है।

जानकारी के मुताबिक, दिव्यांग मृतका की पहचान फतुहां थाना इलाके के गोविंदपुर निवासी शांति देवी के रूप में हुई है। शांति देवी एक प्राइवेट स्कूल में कार्यरत थी। 2 साल पहले पति की बीमारी से मौत होने के बाद दोनों बच्चों की परवरिश उसके हाथों में थी। इसी वजह से उसने स्कूल में पढ़ाने का फैसला किया था।

कोरोना लॉकडाउन में शांति देवी को स्कूल से सैलेरी मिलना बंद हो गई जिस वजह से पूरे परिवार के सामने बड़ा आर्थिक संकट खड़ा हो गया। काफी दिन वह तंगी से जूझती रही लेकिन एक अंत आ गया और शांति देव ने पुनपुन पुल से नदी में कूदकर सुसाइड कर लिया। पुलिस को मृतका के घर से सुसाइड नोट भी मिली है। शांति देवी की बेटी ने बताया कि उसकी मां पिछले काफी दिनों से आर्थिक तंग थी और इसी वजह से शांति देवी ने मौत को गले लगाया।

अन्य खबरें