पटना विमेन कॉलेज महिलाओं के रोजगार के लिए करेगा काम, बनेंगे ट्रेंनिंग सेंटर

Smart News Team, Last updated: Tue, 26th Jan 2021, 6:30 PM IST
  • प्रदेश की छात्राओं और महिलाओं के लिए बिजनेस आइडिया, मार्केटिंग और पैकेजिंग में रोजगार की योजना तैयारी कर रहा है. साथ ही प्रदेश में महिलाओं के लिए नए अवसर तलाशने का काम करेगा. इसकी सहायता से वीमेंस कॉलेज अब केवल इंटरप्रेन्योरशिप या इनोवेशन सेल तक ही सीमित नहीं रहेगा. कॉलेज का प्रयास है कि इसके लिए ज्यादा से ज्याद छात्राएं आएं और अपना आईडिया साझा करें.
पटना महिला कॉलेज पूरे प्रदेश की छात्राओं और महिलाओं के लिए रोजगार की योजना तैयारी कर रहा है.

पटना. पटना महिला कॉलेज पूरे प्रदेश की छात्राओं और महिलाओं के लिए बिजनेस आइडिया, मार्केटिंग और पैकेजिंग में रोजगार की योजना तैयारी कर रहा है. साथ ही प्रदेश में महिलाओं के लिए नए अवसर तलाशने का काम करेगा. इसकी सहायता से वीमेंस कॉलेज अब केवल इंटरप्रेन्योरशिप या इनोवेशन सेल तक ही सीमित नहीं रहेगा. कॉलेज का प्रयास है कि इसके लिए ज्यादा से ज्याद छात्राएं आएं और अपना आईडिया साझा करें.

कॉलेज में प्रोग्राम काे-ऑर्डिनेटर आलोक जॉन ने कहा है कि इसमें छात्राएं अपने बिजनेस आइडिया की प्रस्तुति और आवेदन दे सकती हैं. प्रोग्राम के तहत ज्यादा आवेदन किये जा सकते हैं. इस पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सिस्टर मारिया रश्मि से बात करने पर उन्होंने बताया है कि इस साल हमारा प्रयास रहेगा कि ज्यादा से ज्यादा छात्राएं आएं और अपना आइडिया हमसे साझा करें.

261 करोड़ रुपए की लागत से पटना जंक्शन के पास बनेगा मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब

जैसे की जानकारी मिल रही है कि कॉलेज की छात्रा नूर फातिमा के आइडिया को भारत सरकार शोर्टलिस्ट कर लिया है जो कि वीमन सेफ्टी पर बनाया गया ऐप है और इसके प्रोटोटाइप डेवलपमेंट पर काम शुर कर दिया गया है. वहीं इसके को क्रियान्वित करने के लिए कॉलेज में अलग से सेंटर बनाया है ताकि ज्यादा से ज्यादा बच्चे इसका फायदा ले सकें. भारत सरकार के डीएसटी ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत कॉलेज में तीन माह की ट्रेनिंग कराई जाएगी जिसका उद्देश्य उद्यमिता से जुड़ी जानकारी दी जाएगी. वहीं इसके लिए फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम जारी है. दूसरी तरफ वीमेन डेवलपमेंट प्रोग्राम के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया गया है.

रूपेश सिंह हत्या की जांच के लिए दो टीमें गठित, बैंक अकाउंट की पड़ताल जारी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें