पटना वीमेंस कॉलेज फीस विरोधी आंदोलन बना कैंपेन, पिटिशन साइन करवा रहीं छात्राएं

Smart News Team, Last updated: 17/07/2020 09:40 AM IST
  • राजधानी के पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं का फीस विरोधी आंदोलन सोशल मीडिया पर अब एक कैंपेन बन गया है। पटना वीमेंस कॉलेज में फीस के विरोध में छात्राओं ने Change.org पर एक पिटिशन कैंपेन शुरू कर दिया है
Patna women college fee reduction petition

राजधानी के पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं का फीस विरोधी आंदोलन सोशल मीडिया पर अब एक कैंपेन बन गया है। पटना वीमेंस कॉलेज में फीस के विरोध में छात्राओं ने Change.org पर एक पिटिशन कैंपेन शुरू कर दिया है, ताकि इसे हथियार बनाकर कॉलेज प्रशासन पर फीस कम करने का दबाव बनाया जा सके। दरअसल, कॉलेज की तरफ से 31 जुलाई तक फीस जमा करने का आदेश है। आदेश के बाद छात्राओं ने ट्विटर पर इसके खिलाफ में आवाज बुलंद की, जिसके बाद कॉलेज प्रशासन की तरफ से फीस कम करने के बदले फीस को इंस्टॉलमेंट में जमा करने की सुविधा दी गई। मगर छात्राएं इससे और भी ज्यादा भड़क गईं और इनका आंदोलन अब एक कैंपेन बन गया।

पटना वीमेंस कॉलेज फीस विरोधी आंदोलन तेज, सोशल मीडिया पर पोस्टर मीम्स वायरल

Change.org पर एक "Patna women's college fee reduction" नाम से एक पिटिशन के जरिए आंदोलन में सहयोग मांगा जा रहा है। छात्राओं का कहना है कि कोरोना की वजह से उनके परिवारों की आमदनी पर बुरा असर पड़ा है और फिलहाल कोरोना काल में बिना किसी सुविधा का इस्तेमाल किए इतना भारी भरकम फीस लेना उचित नहीं है। छात्राओं का कहना है कि जब तक कॉलेज बंद है, तब तक सिर्फ ऑनलाइन क्लास के ही पैसे लिए जाए। बाकी माफ कर दिए जाएं।

दरअसल, फीस के विरोध में आंदोलन कर रही छात्राओं की सबसे बड़ी तकलीफ ये है कि कोरोना लॉकडाउन में कॉलेज बंद है मगर उनसे लाइब्रेरी फीस और कैंपस मैंटेनेंस फीस मांगा गया है, जिस सुविधा का उपभोग कोरोना काल में किसी ने किया ही नहीं है। पिटिशन में कॉलेज फीस की रसीद भी है, जिसमें दिख रहा है कि कुल फीस में बड़ा हिस्सा उन चीजों का भी है, जिनका इस्तेमाल कोरोना की वजह से लॉकडाउन में नहीं हुआ है।

पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं का आंदोलन रंग लाया, इंस्टॉलमेंट में दे सकेंगी फीस

कॉलेज की फीस रसीद में दिख रहा है कि किस कोर्स की कितनी फीस है और 31 जुलाई तक कितने पैसे जमा करने हैं। छात्राओं का विरोध इसी बात को लेकर है कि उन चीजों पर भी भारी-भरकम फीस लेना उचित नहीं है, जिनका इस्तेमाल छात्राओं ने कोरोना काल में किया ही नहीं है।

बता दें कि इससे पहले पटना वीमेंस कॉलेज की प्राचार्य प्रोफेसर सिस्टर मारिया रश्मि एसी ने बाद कहा था- ‘किसी भी छात्रा को फीस संबंधित परेशानी है तो सीधे आकर अपनी बात रख सकती है। फीस पूरी माफ नहीं की जा सकती है, लेकिन उन्हें इंस्टॉलमेंट में देने के साथ फीस कम किया जा सकता है। 17 जुलाई के बाद कॉलेज में नोटिस निकालकर फीस कम करने की सूचना दे दी जाएगी। यही नहीं कई तरह के फीस भी माफ किए जाएंगे। हम छात्राओं की समस्या समझते हैं।'

पटना वीमेंस कॉलेज: 1 घंटा ऑनलाइन क्लास, 74000 फीस, छात्राओं ने कहा- ये अन्याय है

कॉलेज की तरफ से इंस्टॉलमेंट के तौर पर राहत की जो पेशकश की गई है, छात्राएं उनसे सहमत नहीं दिख रही हैं। यही वजह है कि छात्राओं ने कॉलेज प्रशासन पर दबाव बनाए रखने के लिए सोशल मीडिया पर ये आंदोलन और तेज कर दिया गया है और सबसे पेटिशन साइन करवा रही हैं। छात्राओं ने राजभवन से लेकर मुख्यमंत्री तक से फीस में रहात दिलाने की मांग की है। बहरहाल, आज यानी 17 जुलाई को कॉलेज आदेश निकालने वाला है, जिसके बाद ये साफ होगा कि छात्राओं के आंदोलन का असल में कितना असर हुआ।

अन्य खबरें