पटना

पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं का आंदोलन रंग लाया, इंस्टॉलमेंट में दे सकेंगी फीस

Smart News Team, Last updated: 16/07/2020 04:52 PM IST
  • एक-दो घंटे ऑनलाइन क्लास के बदले भारी-भरकम फीस वसूली के आदेश के खिलाफ पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं का आंदोलन रंग लाया है।
पटना वीमेंस कॉलेज राज्य में लड़कियों के प्रतिष्ठित कॉलेजों में एक हैं। यहां छात्राओं क आंदोलन ने रंग दिखाया है।

सविता, पटना.

एक-दो घंटे ऑनलाइन क्लास के बदले भारी-भरकम फीस वसूली के आदेश के खिलाफ पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं का आंदोलन रंग लाया है। अब पटना यूनिवर्सिटी से संबद्ध इस ऑटोनॉमस कॉलेज की छात्राएं इंस्टॉलमेंट में फीस जमा कर सकेंगी। दरअसल, इस कॉलेज की लड़कियों ने सोशल मीडिया को अपने फीस विरोधी आंदोलन का हथियार बनाया और ट्विटर पर मामले को ट्रेंड कराकर कॉलेज प्रशासन को अपनी शक्तियों का एहसास करा दिया।  सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर पटना यूनिवर्सिटी की छात्राओं ने फीस के खिलाफ एक हैशटैग को ट्रेंड करा दिया,जिससे बात दूर तलक पहुंच गई। 

आगरा का स्कूल एसोसिएशन जरूरतमंद अभिभावकों को तीन महीने की फीस राहत देगा

इस मसले पर पटना वीमेंस कॉलेज की प्राचार्य प्रोफेसर सिस्टर मारिया रश्मि एसी ने कहा, ‘किसी भी छात्रा को फीस संबंधित कोई परेशानी है, सीधे आकर आकर अपनी बात रख सकती है। फीस पूरी माफ नहीं की जा सकती है, लेकिन उन्हें इंस्टॉलमेंट में देने के साथ फीस कम किया जा सकता है। 17 जुलाई के बाद कॉलेज में नोटिस निकालकर फीस कम करने से संबंधित सूचना दे दी जाएगी। यही नहीं कई तरह के फीस भी माफ किये जाएंगे। हम छात्राओं की समस्या समझते हैं।'

पटना वीमेंस कॉलेज: 1 घंटा ऑनलाइन क्लास, 74000 फीस, छात्राओं ने कहा- ये अन्याय है

दरअल, पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं ने फीस माफी की मांग को लेकर ट्वीटर पर अभियान चला रही हैं। छात्राओं का कहना है कि अच्छी शिक्षा के लिए कॉलेज में नाम लिखाया है। मगर लॉक डाउन की वजह से उनके घर की माली हालत खराब है। ऐसे में वह फीस जमा करने में असमर्थ हैं। बुधवार को भी छात्राओं ने कुलपति को पत्र लिखकर फीस माफी की मांग कर चुकी हैं।

पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राओं का कहना था कि इस आपदा में जब सैलरी वालों का वेतन कट रहा है और जिनका व्यापार है वो कमा नहीं पा रहे हैं तो उनके अभिभावक इतने पैसे कहां से लाएंगे। पटना वीमेंस कॉलेज ने अलग-अलग कोर्स के छात्राओं से 31 जुलाई तक फीस जमान करने को कहा गया था।

अन्य खबरें