पटना: चोरी की गाड़ी से गश्त पर निकली पुलिस, पता चलने पर जांच में जुटी टीम

Smart News Team, Last updated: Thu, 22nd Oct 2020, 8:51 AM IST
  • फुलवारीशरीफ थाने की पुलिस चोरी की कार से काफी दिनों से चल रही थी. वाहन कोषांग में गाड़ी जमा करवाने पर इस बात इस पर्दा उठने पर पुलिस जांच में लग गई है. 
पटना: चोरी की गाड़ी से पुलिस कर रही थी गश्त, पता चलने पर जांच में जुटी टीम

पटना: राजधानी में फुलवारीशरीफ थाने की पुलिस अर्द्धसैनिक बल के जवानों के साथ जिस इनोवा से  चुनावी ड्यूटी में गश्त कर रही थी, उसके चोरी के होने की बात सामने आते ही पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया. मामला सामने आने पर गांधी मैदान थाने की पुलिस ने चोरी की इस इनोवा को जब्त कर चालक अरविंद कुमार को गिरफ्तार कर लिया.

जानकारी के मुताबिक चारी की इस इनोवा के चालक ने बताया कि गाड़ी मोतिहारी के सूरज की है. इस आधार पर आधार पर मामले की जांच करते हुए गांधी मैदान थाने की पुलिस वाहन कोषांग में इनोवा को जमा करने वाले तक पहुंचने के प्रयास में जुट गई है. जिसके बाद एक नंबर की दो गाड़ी जमा होने पर राज खुल गया. 

बैग में छुपा कर 4.5 करोड़ की हेराेइन असम से पटना ला रही थी महिला तस्कर, अरेस्ट

इस मामले में गांधी मैदान थाना प्रभारी रणजीत वत्स ने बताया कि गांधी मैदान में बने वाहन कोषांग में किसी ने इनोवा कार को जमा किया था. जबकि प्रशासन की तरफ से इस गाड़ी को फुलवारीशरीफ थाने को दी गयी थी.  पिछले कई दिनों से पुलिस कर्मी उसी गाड़ी से चल रहे थे, लेकिन उन्हें यह पता नहीं था कि जिस गाड़ी से वह चल रहे हैं, वह चोरी की है. जब उसी नंबर की दूसरी इनोवा गांधी मैदान जमा करने के लिए आयी तो पता चला कि इस नंबर की गाड़ी पहले से जमा है. 

CM नीतीश के पांव छूकर लालू यादव की बहू ऐश्वर्या राय ने मांगा JDU के लिए वोट

मामला सामने आने के बाद गाड़ी मालिक गांधी मैदान थाने पहुंचा, उसने बताया कि मेरी ही गाड़ी का नंबर लगाकर चोरी की गाड़ी को वाहन कोषांग में जमा किया गया है. इस पर पुलिस ने केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी. जिसके बाद पता चला कि वाहन कोषांग से फुलवारीशरीफ थाने को जो गाड़ी दी गयी है, वह चोरी की है. थाना प्रभारी ने बताया कि चोरी की गाड़ी जमा करने वाले ने जो नंबर लिखवाया था, वह स्विच ऑफ है. पुलिस वाहन कोषांग में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगालते हुए गाड़ी जमा करने वाले की पहचान करने में जुटी है.

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें