बिहार चुनाव: NDA की चुनावी रैली करेंगे PM नरेंद्र मोदी, CM नीतीश कुमार देंगे साथ

Smart News Team, Last updated: 16/10/2020 03:09 PM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव के लिए पीएम नरेंद्र मोदी एनडीए का प्रचार करेंगे. उनके साथ बिहार के सीएम नीतीश कुमार भी जनसभाओ में शामिल होंगे. 23 अक्टूबर से पीएम मोदी 12 चुनावी रैली करेंगे. ये रैलियां कब और कहां होंगी इसका पूरा शेड्यूल, तारीख नीचे जान सकते हैं.
बिहार विधानसभा चुनाव के लिए पीएम नरेंद्र मोदी एनडीए के लिए प्रचार करेंगे. ये चुनावी रैली इस महीने में शुरू हो जाएंगी.

पटना. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार विधानसभा चुनाव के लिए राज्य में जनसभा को संबोधित करेंगे. पीएम मोदी 12 जन सभाओं को संबोधित करेंगे. पीएम मोदी के साथ सीएम नीतीश कुमार भी मौजूद रहेंगे. इनकी चुनावी रैली सासाराम से शुरू होगी. 23 अक्टूबर, 28 अक्टूबर, 1 नवंबर और 3 नवंबर को दिन में 3 रैली होंगी. हर सभा 20 विधानसभा क्षेत्रों के लिए होगी और एलईडी से 100 जगह सीधे लोग इस सभा से जुड़ेंगे. सभी सहयोगी दल के नेता इन रैलियों में मौजूद रहेंगे.

बिहार भाजपा के चुनाव प्रभारी देवेन्द्र फडणनवीस ने राजधानी पटना में जानकारी देते हुए बताया कि पीएम मोदी 23 अक्टूबर तारीख को पहली सासाराम में, दूसरी गया में और तीसरी भागलपुर में रैली करेंगे. 28 अक्टूबर को पीएम पहली रैली दरभंगा में पहली, दूसरी मुजफ्फरपुर और तीसरी पटना में करेंगे. 1 नवंबर को पीएम मोदी पहली रैली छपरा में, दूसरी पूर्वी चंपारण और तीसरी रैली समस्तीपुर में होगी. वहीं 3 नवंबर को पहली रैली चंपारण दूसरी सहरसा और तीसरी अररिया में करेंगे. 

पटना: IIT की तैयारी के लिए कोटा गए छात्र ने दी जान, सुसाइड नोट में वजह डिप्रेशन

शुक्रवार को एनडीए ने रिपोर्ट कार्ड जारी कर दिया. बीजेपी-जेडीयू और अन्य 2 सहयोगी दल के नेता इस कार्यक्रम में मौजूद रहे. बिहार बीजेपी के चुनाव प्रभारी देवेन्द्र फड़नवीस, रविशंकर प्रसाद, जेडीयू की तरफ से संजय झा एनं अन्य नेता भी मौजूद रहे. जेडीयू नेता संजय झा ने कहा कि इस प्रदेश मैं हमेशा से जाति के नाम पर वोट मांगा गया, लेकिन नीतीश कुमार ने इसे बदला है. अब विकास के मुद्दे पर वोट की अपील की जाती है. नीतीश कुमार ने 2005 में माइनस से काम शुरू किया था. आज बिहार की क्या स्थिति है किसी से छुपी हुई नहीं है.

बिहार चुनाव: JDU को झटका, कोरोना संक्रमित कैबिनेट मंत्री कपिलदेव कामत का निधन

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें