PMCH के 75% बेड कोरोना मरीजों के लिए होंगे रिजर्व, अभी 100 पर हो रहा है इलाज

Smart News Team, Last updated: Sat, 1st May 2021, 12:27 AM IST
  • पीएमसीएच के 75 फीसदी बेड को कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व कर दिया गया है. अबतक सिर्फ कोविड वार्ड के 100 बेड पर मरीजों को भर्ती किया जा रहा था. कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने यह निर्णय लिया है.
पीएमसीएच में 75 फीसदी बेड होंगे कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व.

पटना. बिहार की राजधानी के लोगों को अब अस्पताल में बेड के दर-दर भटकने से राहत मिलेगी. पीएमसीएच की कुल बेड क्षमता का 75 प्रतिशत अब कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व होगा. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने शुक्रवार को पीएमसीएच प्रशासन को तैयारी करने के निर्देश दिए हैं.   

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पीएमसीएच के प्राचार्य और अधीक्षक को बेडों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए हैं. बता दें कि फिलहाल कोविड वार्ड के 100 बेडों पर ही कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है. जिसके कारण बड़ी संख्या में पीएमसीएच से कोविड संक्रमितों को लौटाया जा रहा है. 

पीएमसीएच के सभी वार्डों की बेड की संख्या 1750 है. 75 प्रतिशत कोविड मरीजों के लिए आरक्षित होने पर लगभग 1200 बेड पर उनका इलाज हो सकेगा. प्राचार्य डॉ. बीपी चौधरी ने बताया कि प्रधान सचिव शनिवार को कोविड मरीजों के लिए बेड रिजर्वेशन की तैयारी को लेकर पीएमसीएच का निरीक्षण भी करेंगे.  

बिहार में कोरोना का कहर! एक दिन में 15 हजार से ज्यादा केस, जानें पटना का हाल

कोरोना मरीजों की संख्या को बढ़ता देख स्वास्थ्य विभाग ने यह फैसला लिया है. वहीं कोविड मरीजों के लिए 75 फीसदी बेड रिजर्व होने के कारण अन्य मरीजों के लिए परेशानी बढ़ सकती है. पीएमसीएच अधीक्षक कार्यालय से संबंधित एक वरीय डॉक्टर ने इस मामले को लेकर बताया है कि पीएमसीएच में अभी एमरजेंसी को छोड़कर दूसरी बीमारियों से ग्रसित मरीज बहुत कम आ रहे हैं. सर्जरी वार्ड से लेकर हड्डी रोग विभाग में ऑपरेशन टाले जा रहे हैं. ऐसे में कोविड बेडों की संख्या बढ़ने से कोरोना संक्रमितों को ज्यादा राहत मिलेगी. 

बिहार में कोरोना बेकाबू, विश्वविद्यालयों में 31 मई तक गर्मियों की छुट्टी का आदेश 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें