बिहार में JDU के नेता शराब पीते गिरफ्तार, पीने का ऐसा बहाना कि CM नीतीश माथा पीट लेंगे

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Thu, 6th Jan 2022, 8:20 PM IST
  • बिहार के समस्तीपुर में पुलिस ने जेडीयू के पंचायत अध्यक्ष को शराब पीते हुए गिरफ्तार किया. वहीं जब पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया तो उसने जो जवाब दिया उसे सुनकर सभी हैरान रह गए. वहीं पुलिस ने जेडीयू के पंचायत अध्यक्ष समेत 4 लोगों को शराब पीते हुए गिरफ्तार किया है.
बिहार में JDU के नेता शराब पीते गिरफ्तार, पीने का ऐसा बहाना कि CM नीतीश माथा पीट लेंगे

पटना. बिहार में पूर्ण रूप से शराबबंदी है. उसके बावजूद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी के लोग भी शराब पिटे हुए पकड़े जा रहे है. बिहार पुलिस ने बुधवार को समस्तीपुर में पत्नी की शिकायत पर जेडीयू के नेता को शराब पीते हुए पकड़ा था. वहीं वह जेडीयू का पंचायत अध्यक्ष भी है. वहीं जब पुलिस ने पंचायत अध्यक्ष को शराब पीते हुए पकड़ा तो उसने जो जवाब दिया उसे सुनकर वह भी हैरान हो गए. पुलिस के अनुसार शराब पीते हुए पकड़े गए जेडीयू नेता का नाम कपिल देव है. वहीं पुलिस ने इसके साथ ही पुलिस ने अन्य तीन लोगों को भी जाम लड़ते हुए पकड़ा है.

पुलिस के अनुसार जेडीयू नेता कैलाश कुमार दास की बेटी का जन्‍मदिन था. इस जन्मदिन पार्टी में जेडीयू पंचायत अध्‍यक्ष कपिल देव प्रसाद भी पहुंचे थे. जहां पर वह जाम से जाम टकराने लगे. इसी बिच उनकी पत्नी ने पुलिस को शराब पीने की सूचना दी. जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस कपिल देव के साथ तीन अन्य लोगों को भी शराब पीते हुए गिरफ्तार किया. जेडीयू पंचायत अध्‍यक्ष अरेस्ट होते ही वह अपने पार्टी के नेता और सीएम नीतीश कुमार पर भड़क गए.

बदलने वाली है बिहार की सियासत! RJD ने कहा- नीतीश कुमार हम आपके साथ हैं

वहीं गिरफ्तार होने के बाद कपिल देव ने कहा कि शराबबंदी को लेकर मैंने कई बार आवेदन किया. लोकशिकायत में हम शराबबंदी के खिलाफ कितना शिकायत किये हैं इसकी टोटल जांच की जाए. नीतीश कुमार सीबीआई जांच बैठा दें. वहीं जब पुलिस ने उससे पूछा कि शराब बंदी को लेकर जब आवेदन किया था तो शराब क्यों पी? इसपर जडियू नेता ने कहा कि हमेशा पुलिस को फोन करते थे तो उसको कुछ नहीं मिलता था. शराब मिल रहा है, इसको साबित करने के लिए पी थी. वहीं उन्होंने आगे कहा कि पुलिस को दिखाना था कि देखो शराब मिलता है कि नहीं मिलता है. अब पी ली तो हमें ही दबोच लिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें