पटना में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी, 100 अस्पतालों में होगा इलाज

Smart News Team, Last updated: Mon, 24th May 2021, 1:41 PM IST
  • 100 अस्पतालों को बच्चों के इलाज के लिए तैयार किया जाएगा. इसके लिए 12 सरकारी और 90 निजी अस्पतालों में उपलब्ध संसाधनों को देखा जा रहा है. सबडिवीज़न के अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट भी लगाए जाएंगे
बच्चों के इलाज के लिए 100 अस्पतालों में तैयारी

पटना: कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए पटना के 100 अस्पतालों को बच्चों के इलाज के लिए तैयार किया जाएगा. इसके लिए 12 सरकारी और 90 निजी अस्पतालों में उपलब्ध संसाधनों को देखा जा रहा है. वहीं सबडिवीज़न के अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट भी लगाए जाएंगे ताकि इलाज में ऑक्सीजन सप्लाई की कोई दिक्कत न हो.

पीएमसीएच, एनएमसीएच, आईजीआईएमएस, पटना एम्स, गुरु गोविंद सिंह अस्पताल, दानापुर सबडिवीज़न हॉस्पिटल, मसौढ़ी, विक्रम, पालीगंज, बाढ़ के सबडिवीज़न हॉस्पिटल में संसाधनों का आंकलन किया जा रहा है. पर्याप्त संसाधन न होने पर उन अस्पतालों को लिस्ट से हटाने की योजना है.

बिहार में बढ़ सकता है लॉकडाउन, जानें नीतीश सरकार कब लेगी फैसला

अफसरों के मुताबिक कुछ दिनों में सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में उपलब्ध संसाधनों का आंकलन हो जाएगा. जिन अस्पतालों में थोड़ी बहुत सुविधा नहीं होगी, वहां पूरी व्यवस्था की जाएगी. वहीं सबडिवीज़न हॉस्पिटल में 5 ऑक्सीजनयुक्त बेड की व्यवस्था की जाएगी. इसके लिए कुछ सबडिवीज़न हॉस्पिटल में ऑक्सीजन प्लांट भी लगाया जाएगा ताकि बच्चों के इलाज में ऑक्सीजन की कोई कमी ना हो.

पटना की सरिया फैक्ट्री में सिलेंडर ब्लास्ट, कई मजदूर गंभीर रूप से घायल

जिला प्रशासन ने स्वास्थ्य अफसरों को अस्पतालों में ऑक्सीजनयुक्त बेड और वेंटिलेटर की व्यवस्था को देखने का निर्देश दिया है. इसके साथ ही 14 साल से कम आयु वर्ग के बच्चों की संख्या को देखते हुए अस्पतालों में संसाधन के आंकलन की रिपोर्ट भी देने को कहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें